Latest News in Hindi

मांगो को लेकर अद्र्धनग्न होकर किया प्रदर्शन, कराया मुंडन

By Rakesh kumar Verma

Sep, 12 2018 08:43:27 (IST)

निकाली मुख्यमंत्री की शव यात्रा

मांगो को लेकर अद्र्धनग्न होकर किया प्रदर्शन, कराया मुंडन

नारेबाजी कर जताया विरोध, दी आंदोलन की चेतावनी
प्रतापगढ़. राजस्थान रोडवेज के श्रमिक संगठनों का संयुक्त मोर्चा की ओर से अपनी मांगों को लेकर बुधवार को राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया गया। शहर के रोडवेज डिपो पर मांगों को लेकर एटक की ओर से अद्र्धनग्न होकर मुख्यमंत्री की शवयात्रा निकाली। इसके बाद अंतिम संस्कार किया गया। रोडवेज के एटक संगठन के कार्यकर्ताओं की ओर से डिपो पर नारेबाजी करते हुए विरोध प्रदर्शन किया गया। मुख्यमंत्री की शवयात्रा के दौरान संगठन के कार्यकर्ताओं ने अपना मुंडन कर के विरोध जताया।
यह है मुख्य मांगें
राजस्थान रोडवेज के श्रमिक संगठनों का संयुक्त मोर्चा के एटक के जिलाध्यक्ष शंकरलाल टांक ने बताया कि मुख्य मांग जुलाई 2018 तक के बकाया अनुदान की राशि 101 करोड़ 19 लाख रुपए एवं अगस्त 2018 के अनुदान की बकाया राशि 20 करोड़ रुपए राज्य सरकार तुरंत रोडवेज को दें। वहीं भविष्य में प्रतिमाह दी जाने वाली अनुदान की राशि 45 करोड़ रुपए नियमित रूप से रोडवेज को दी जाने की मांग के साथ रोडवेज की नकारा हो चुकी बसों को बदलने, आर्थिक सहायता तुरंत उपलब्ध कराने, रोडवेज के श्रमिकों को राज्य सरकार के अनुरूप सातवें वेतन आयोग के अनुसार वेतनमान पेंशन भत्ते दिए जाने सहित कई मांगों को लेकर यह प्रदर्शन किए जा रहे है।
मांगे नहीं मानी तो 17 को प्रदेशव्यापी हड़ताल
एटक के सचिव ज्ञानचंद बैरवा ने बताया कि राज्य सरकार 27 जुलाई 2018 के समझौते के अनुसार मांगों को लागू नहीं करती है तो रोडवेज उधोग एवं श्रमिकों के वाजिब हकों के लिए 15 व 16 सितम्बर को धरना देकर 17 सितम्बर को प्रस्तावित 24 घंटे की प्रदेशव्यापी हड़ताल की जाएगी।

 

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का लिया संकल्प
मेरियाखेड़ी निकटवर्ती राजकीय प्राथमिक विद्यालय आमलीखोरा में अभिभावक-अध्यापक परिषद की बैठक हुई।इस अवसर पर अभिभावकों और ग्रामीणों द्वारा अपने और अपने परिवार व आसपास की बेटियों को नियमित विद्यालय भेजने, उन्हें आत्मनिर्भर बनाने और उन्हें विद्यालय की शिक्षा दिलाने के साथ-साथ बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संकल्प लिया गया। विद्यालय की अध्यापिका ममता शर्मा ने जीवन में बेटी का क्या महत्व है, और बेटी को शिक्षित क्यों करना आवश्यक है? इसके बारे में जानकारी दी गई। इस अवसर पर जनप्रतिनिधि, एसएमसी अध्यक्ष, सदस्य, अभिभावक, महिलाएं एवं विद्यालय परिवार उपस्थित थे।