नए अवतार में वापसी कर रही है एंबेसडर कार, भारत की Rolls Royce बनकर करेगी सड़कों पर राज

|

Published: 21 May 2018, 11:28 AM IST

एक समय पर भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाली कार एंबेसडर (Ambassador) अब दोबारा भारतीय बाजार में एंट्री करने जा रही है। यहां जानें कैसी होगी ये कार

नए अवतार में वापसी कर रही है एंबेसडर कार, भारत की Rolls Royce बनकर करेगी सड़कों पर राज

एक समय पर भारत के लोगों का स्टेटस सिंबल माने जाने वाली बेहतरीन कार एंबेसडर (Ambassador) आपको याद है? जी हां वही सफेद कार, जिसे आपने नेताओं के काफिले में भी देखा होगा और एक समय पर पुलिस और अन्य बड़े अधिकारियों के पास भी यही कार हुआ करती थी। एक समय पर भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाली कार एंबेसडर अब दोबारा भारतीय बाजार में एंट्री करने जा रही है। कुछ साल पहले किसी कारण ये कंपनी बिक गई थी और इसमें कारों का प्रोडक्शन बंद कर दिया गया था। आइए जानते हैं इस कार का इतिहास और इस कार को दोबारा कब तक रिलॉन्च किया जाना है।

हिंदुस्तान मोटर्स (Hindustan Motors) की शुरुआत 1958 में हुई थी और कंपनी ने एंबेसडर का प्रोडक्शन 1958 से लेकर 2014 तक किया था। एंबेसडर वो कार थी, जिसका निर्माण सबसे पहले भारत में किया गया था। हिंदुस्तान मोटर्स ने बाजार में सबसे पहले मार्क I फर्स्ट जनरेशन का प्रोडक्शन शुरू किया था, जिसे 1957 से 1962 तक बनाया गया था। उसके बाद मार्क II को 1962 से 1975 तक बनाया गया। उसके बाद मार्क III को 1975 में बनाया गया।
उसके बाद मार्क IV को 1979 से 1990 तक बाजार में बेचा गया। उसके बाद एंबेसडर नोवा को 1990 से 1999 बनाया गया।

एंबेसडर 1800 आईएसजेड (क्लासिक) 1992 से 2011 तक बाजार में बेची गई। एंबेसडर ग्रांड 2003 में लॉन्च की गई और 2007 में इसका नया वेरिएंट भी उतारा गया। 2004 में एंबेसडर एविगो को उतारा गया, जो कि काफी ज्यादा हाइटेक भी थी। आखिर में एंबेसडर एनकोर 2013 में लॉन्च की गई। साल 2017 में एंबेसडर कार बनाने वाली कंपनी हिंदुस्तान मोटर्स मात्र 80 करोड़ रुपये में बेच दी गई थी। फ्रांस की कंपनी पीएसए ग्रुप (PSA Group) ने इस कंपनी को खरीदा है और ये कंपनी सीके बिरला ग्रुप के मिलकर भारत में नए तरीके से कार बनाने का काम शुरू करेगी। उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही एंबेसडर नए अवतार में भारतीय सड़कों पर दौड़ती हुई नजर आएगी।

Related Stories