बंगाल मे तृणमूल को एक और झटका

|

Updated: 20 Jan 2021, 05:37 PM IST

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में तृणमूल कांग्रेस की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। एक के बाद एक पार्टी विधायकों का मोहभंग कम होता नहीं दिख रहा है। बुधवार को दिल्ली में पार्टी के एक और विधायक ने भाजपा का दामन थाम लिया।

कोलकाता
पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले तृ़णमूल कांग्रेस की समस्या कम होती नहीं दिख रही है। एक के बाद एक पार्टी के नेता, विधायक, मंत्री तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो रहे हैं। ताजा मामला शांतिपुर विधायक अरिन्दम भट्टाचार्य का है। उन्होंने बुधवार को नई दिल्ली में भाजपा का दामन थाम लिया।
पार्टी नेता कैलाश विजयवर्गीय की मौजूदगी में अरिन्दम ने राज्य में विकास कार्यों के पिछड़ेपन, भ्रष्टाचार समेत अन्य आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि वाममोर्चे के दीर्घ कुशासन के बाद राज्य की सत्ता में आई तृणमूल कांग्रेस नागरिकों के सपने पूरे नहीं कर पाई। उन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व और संकल्प पर भरोसा है। बंगाल के विकास के लिए वे
भाजपा से जुड़ रहे हैं।
गौरतलब है कि भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय दावा कर चुके हैं कि तृणमूल कांग्रेस के ४० से ज्यादा विधायक भाजपा के सम्पर्क में हैं। वहीं दक्षिण २४ परगना के कई विधायकों के भी जल्द ही भाजपा में आने की बात कही जा रही है।
इससे पहले राज्य के मंत्री रहे शुभेन्दु अधिकारी, शोभन चटर्जी भी भाजपा में शामिल हो चुके हैं।