Rahul Gandhi का मोदी सरकार तीखा हमलाः चीन पर केंद्र के अलग-अलग बयान, डर किस बात का?

|

Updated: 17 Sep 2020, 07:52 AM IST

  • कांग्रेस सांसद Rahul Gandhi ने चीन विवाद को लेकर मोदी सरकार पर साधा निशाना
  • बोले- चीन से तनाव को लेकर केंद्र के अलग-अलग बयान आए सामने
  • कांग्रेस नेता ने समझाई क्रोनोलॉजी, पूछा- डर किस बात का?

नई दिल्ली। चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चल रहे विवाद के बीच मोदी सरकार की ओर से दिए जा रहे अलग-अलग बयानों को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जमकर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने कहा है कि चीन के साथ चल रहे तनाव और विवाद को लेकर पीएम मोदी अलग बयान देते हैं, रक्षा मंत्री अलग और गृहमंत्री अलग, आखिर सच्चाई क्या है। यही नहीं उन्होंने चीन के बहाने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए सवाल भी पूछा कि केंद्र सरकार भारतीय सेना के साथ है या फिर चीन के साथ?

कांग्रेस नेता और वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट के जरिए बुधवार को एक बार फिर मोदी सरकार को जमकर घेरा। चीन के साथ तनाव के बीच राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) से लेकर रक्षा मंत्री और गृह राज्य मंत्री के अलग-अलग बयान पर टिप्पणी की है. राहुल ने कहा कि पीएम बोले कि कोई सीमा में नहीं घुसा और अब गृह राज्य मंत्री ने कहा कि कोई अतिक्रमण नहीं हुआ। राहुल ने लिखा, 'आप क्रोनोलॉजी समझिए।

पाकिस्तान को एक बार फिर अजीत डोभाल ने सिखाया सबक, इस बार रूस का भी मिला साथ

देशभर में टूटा कोरोना का कहर, 50 लाख के पार पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा

राहुल गांधी ने ट्वीट में लिखा- आप क्रोनोलॉजी समझिए...PM बोले कि कोई सीमा में नहीं घुसा, फिर चीन-स्थित बैंक से भारी कर्ज लिया, फिर रक्षामंत्री ने कहा चीन ने देश में अतिक्रमण किया, अब गृह राज्य मंत्री ने कहा अतिक्रमण नहीं हुआ।

इसके बाद राहुल गांधी ने सवाल किया कि आखिर मोदी सरकार भारतीय सेना के साथ है या फिर चीन के साथ? यही नहीं इसके बाद ये भी पूछा कि आखिर इतना डर किस बात का?

दरअसल राहुल गांधी का ट्वीट ऐसे समय पर आया है जब चीन के साथ चल रहे तनाव को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एक दिन पहले लोकसभा में बयान दे चुके। इसके बाद राज्यसभा में गृह मंत्रालय की ओर से जो बयान आया उसमें ये कहा गया कि पिछले 6 महीने में चीन सीमा पर कोई घुसपैठ ही नहीं हुई। ये बात केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने एक सांसद के लिखित सवाल के जवाब में कही।

वहीं कांग्रेस ने कहा है कि जब सरकार चीन के साथ तनाव की बात करती है, तो फिर ऐसे बैंक से क्यों लोन लिया गया, जिसका कार्यालय बीजिंग में है। कांग्रेस ने मांग करते हुए कहा कि इस मसले पर चर्चा होनी चाहिए।

आपको बता दें कि चीन के साथ विवाद और तनाव के बाद बुधवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह राज्यसभा में भी अपनी बयान देने वाले थे, लेकिन दोपहर तक ये हो नहीं सका और राज्यसभा गुरुवार तक के लिए स्थगित कर दी गई।