जानिए कोरोना काल में नीतीश कुमार के 'घर से न निकलने' को लेकर तेजस्वी ने क्या कहा

|

Updated: 23 Oct 2020, 09:48 PM IST

  • राहुल गांधी और तेजस्वी यादव में नवादा में चुनावी सभी को किया संबोधित ।
  • तेजस्वी ने कहा, कैबिनेट की पहली बैठक में देंगे 10 लाख रोजगार।
  • 'बिहार के पर्यटन क्षेत्रों का विकास करके भी रोजगार दिया जाएगा'।

नवादा । बिहार विधानसभा चुनाव Bihar Election में जीतने के लिए सभी राजनीतिक दल अपने-अपने तरीके से जोर लगा रहे हैं। शुक्रवार को बिहार चुनाव महागठबंधन के नेता कांग्रेस के राहुल गांधी rahul gandhi और राजद के तेजस्वी यादव RJD leader Tejashwi Yadav एक मंच पर साथ दिखाई दिए । दोनों ने विरोधियों पर जमकर निशाना साधा। नवादा के हिसुआ विधानसभा में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए तेजस्वी ने कोरोना काल Covid के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार Nitish Kumar के मुख्यमंत्री आवास CM house से बाहर नहीं निकलने पर तंज कसते हुए सवाल खड़े किए।

Bihar Election: RJD सुप्रीमो के निशाने पर नीतीश कुमार, ट्विटर पर शेयर किया ऐसी तस्वीर

तेजस्वी ने नीतीश पर कसा तंज -
तेजस्वी ने आरोप लगाया कि जब लोगों को नीतीश कुमार की जरूरत थी तब वे 'घर में कैद थे' और आज बाहर निकलकर वोट मांग रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब प्रवासी मजदूर अन्य राज्यों से लौट रहे थे तब भी कोरोना काल था और आज भी कोरोना काल है। उस समय मुख्यमंत्री घर से नहीं निकले, लेकिन आज जब वोट मांगना हुआ तो रैली कर रहे हैं। नीतीश कुमार 144 दिनों तक मुख्यमंत्री आवास में बंद थे। लेकिन अब वो घर से बाहर आ गए हैं, क्यों? तब भी कोरोना था, अब भी कोरोना है। लेकिन अब उनको आपका वोट चाहिए, तो उनको बाहर आना पड़ा है।

तेजस्वी ने नीतीश को दी खुली बहस की चुनौती, कहा- बिहार से शुरू हो Chief Ministerial डिबेट की परंपरा

कैबिनेट की पहली बैठक में देंगे 10 लाख रोजगार -
उन्होंने कहा कि प्रवासी मजदूरों को अब भी रोजगार नहीं मिला है। आम लोग अभी भी बेरोजगार हैं। तेजस्वी ने भोजपुरी भाषा में लोगों में जोश भरते हुए कहा कि अगर वे सत्ता में आए तो पहली कैबिनेट की बैठक में 10 लाख लोगों को रोजगार देने के प्रस्ताव को मंजूर करेंगे। उन्होंने कहा कि आज बजट की आधी राशि खर्च नहीं की जाती है, वह सब वापस लौट जाता है। उन्होंने कहा कि पर्यटन क्षेत्रों का विकास कर भी रोजगार दिया जाएगा।

राहुल गांधी ने कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार को घेरा -
इस रैली को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी संबोधित किया और केंद्र और राज्य सरकार पर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि ये कानून किसानों पर आक्रमण करने के लिए लाए गए हैं।