Maharashtra: उद्धव सरकार का बड़ा फैसला, पूर्व सीएम फडणवीस और राज ठाकरे की घटाई सुरक्षा

|

Updated: 10 Jan 2021, 06:31 PM IST

HIGHLIGHTS

  • देवेंद्र फडणवीस ( ( Ex CM Devendra Fadnavis ) ) की सुरक्षा Z+ से घटाकर Y+ कर दी गई है। साथ ही फडणवीस के सुरक्षा काफिले से एक बुलेट प्रूफ वाहन को हटा लिया गया है।
  • फडणवीस की पत्नी अमृता की सुरक्षा भी Y+ से घटाकर X कर दिया गया है।
  • MNS प्रमुख राज ठाकरे की सुरक्षा घटाकर Z की जगह Y+ कर दी गई है।

मुंबई। महाराष्ट्र में सियासी ( Maharashtra Politics ) संग्राम एक बार फिर से तूल पकड़ने लगा है और इस राजनीतिक गहमागहमी के बीच उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास अघाड़ी की सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए कई नेताओं की सुरक्षा घटा दी है। उद्धव सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ( Ex CM Devendra Fadnavis ) की सुरक्षा में कटौती कर दी है।

इसके अलावा महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ( MNS Chief Raj Thackeray ) की सुरक्षा भी घटाई गई है। महाराष्ट्र सरकार के इस फैसले को लेकर सियासत गर्मा गई है। भाजपा ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया दी है।

Maharashtra: अजान को लेकर गर्मायी सियासत, शिवसेना नेता के सुझाव पर BJP का पलटवार

सरकार की ओर से कहा गया है कि यह फैसला सुरक्षा की नियमित समीक्षा के बाद उठाया गया है। नई व्यवस्था के मुताबिक, फडणवीस की सुरक्षा Z+ से घटाकर Y+ कर दी गई है। साथ ही फडणवीस के सुरक्षा काफिले से एक बुलेट प्रूफ वाहन को हटा लिया गया है। इसके अलावा फडणवीस की पत्नी अमृता की सुरक्षा भी Y+ से घटाकर X कर दिया गया है।

भाजपा के अन्य नेताओं और राज ठाकरे की घटी सुरक्षा

आपको बता दें कि महाराष्ट्र सरकार के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के चचेरे भाई और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे की सुरक्षा भी घटाई गई है। राज ठाकरे की सुरक्षा Z की जगह Y+ कर दी गई है। उद्धव सरकार ने फडणवीस, राज ठाकरे के अलावा भाजपा के अन्य नेताओं की सुरक्षा भी घटाई गई है। इसमें भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल, पूर्व सीएम और भाजपा सांसद नारायण राणे शामिल हैं। इन सभी की सुरक्षा Y+ से घटा दी गई है। इसके अलावा भाजपा नेता प्रवीण दारेकर और प्रसाद लाल की भी सुरक्षा घटाई गई है।

Maharashtra: गुजराती वोटरों पर उद्धव सरकार की नजर, रिझाने के लिए बनाई ये खास रणनीति

भाजपा ने तमाम नेताओं की सुरक्षा घटाए जाने को लेकर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। भाजपा विधायक और प्रवक्ता राम कदम ने कहा कि उद्धव सरकार ने राजनीतिक कारण से यह कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सुरक्षा कवर जारी रहने के हक में होने के बावजूद ये कदम उठाया गया।

कदम ने कहा कि भाजपा नेताओं की सुरक्षा घटाकर महाराष्ट्र सरकार हमारी आवाज को दबानी चाहती है और शांत करना चाहती है। लेकिन हम शांत नहीं रहेंगे और सरकार की नाकामियों को हर मोर्चे पर उजागर करेंगे।