Maharashtra: भाजपा को झटका, कृष्णा हेगड़े ने थामा शिव सेना का दामन

|

Updated: 05 Feb 2021, 10:55 PM IST

  • महाराष्ट्र में BJP को झटका देते हुए पूर्व विधायक कृष्णा हेगड़े शिव सेना में शामिल हो गए
  • कृष्णा हेगड़े ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आवास पर बैठक के बाद इस खबर की पुष्टि की

मुंबई। महाराष्ट्र ( Maharashtra BJP ) में भारतीय जनता पार्टी को तगड़ा झटका देते हुए पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्व विधायक कृष्णा हेगड़े ( Krishna Hegde ) शुक्रवार शाम को सत्तारूढ़ शिव सेना ( Shivsena )में शामिल हो गए। जब आईएएनएस ने उनसे सम्पर्क साधा तो उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ( CM Uddhav Thackeray )के आवास पर बैठक के बाद इस खबर की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि मैंने शिव सेना ज्वाइन कर लिया है। मुख्यमंत्री ने मुझसे पार्टी के प्रसार के लिए विशेषकर विले पार्ले इलाके में और मुंबई की प्रगति के लिए मदद करने का आग्रह किया है। 54-वर्षीय हेगड़े विले पार्ले से कांग्रेस के विधायक रहे हैं। उन्होंने पार्टी में अर्न्तकलह का हवाला देते हुए 2017 में कांग्रेस छोड़ भाजपा के साथ नाता जोड़ लिया। भाजपा के साथ उनका चार साल का नाता रहा, लेकिन शुक्रवार को वह भाजपा को छोड़ शिव सेना में शामिल हो गए।

Chakka Jam के दौरान आम लोगों को चना-मूंगफली खिलांएगे किसान, जानिए क्या है किसान संगठनों का प्लान?

हेगड़े 2009 में विले पार्ले विधानसभा सीट से कांग्रेस की ओर से निर्वाचित हुए थे

पिछले महीने वह उस वक्त सुर्खियों में आए जब उन्होंने एक महिला के खिलाफ जबरन वसूली के लिए हनी ट्रैप करने की कोशिश की शिकायत दर्ज कराई थी। उस महिला ने महाराष्ट्र के मंत्री धनंजय मुंडे पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था, हालांकि बाद में उसने अपनी शिकायत वापस ले ली थी। हेगड़े 2009 में विले पार्ले विधानसभा सीट से कांग्रेस की ओर से निर्वाचित हुए थे। लेकिन, 2014 के चुनाव में उन्हें भाजपा के पराग अल्वानी के हाथों पराजय मिली। हेगड़े ने मुंबई के आईटी इंजीनियर भवेश परमार की रिहाई में अहम भूमिका निभाई थी। 2005 में वह अमृतसर गए थे और वहां से समझौता एक्सप्रेस पकड़कर पाकिस्तान चले गए थे। बिना पासपोर्ट, वीजा अथवा किसी भी वैध दस्तावेज के बगैर पड़ोसी देश पहुंचने के कारण उन्हें पकड़ लिया गया। उन्हें सात साल तक वहां की जेल में बिताना पड़ा। इसके बाद 2012 में उन्हें वापस भारत प्रत्यर्पित किया गया।

सावधान: प्रदर्शनकारियों को अब चुकानी पड़ सकती है भारी कीमत, नहीं मिलेंगी ये सरकारी सुविधाएं

नाना एफ. पटोले को MPCC का नया अध्यक्ष नियुक्त

वहीं, एक बड़े फेरबदल में, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को महाराष्ट्र विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष नाना एफ. पटोले को महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस समिति (एमपीसीसी) का नया अध्यक्ष नियुक्त किया। यहां एक घोषणा में यह जानकारी दी गई। पटोले ने वरिष्ठ नेता और राजस्व मंत्री बालासाहेब थोरात की जगह ली। 57 वर्षीय पटोले की नियुक्ति गुरुवार शाम को विधानसभा अध्यक्ष के पद से इस्तीफा देने के एक दिन बाद हुई और आईएएनएस ने सही संकेत दिया था कि वह राज्य इकाई के प्रमुख होंगे। पटोले के अलावा, कांग्रेस ने एक बड़े फेरबदल में 6 कार्यकारी अध्यक्षों, 10 उपाध्यक्षों और एक 37-सदस्यीय संसदीय बोर्ड को भी नियुक्त किया है। नए कार्यकारी अध्यक्षों में शिवाजीराव मोघे, बसवराज पाटिल, एम. आरिफ नसीम खान, कुणाल रोहिदास पाटिल, चंद्रकांत हंडोरे और प्रणति सुशीलकुमार शिंदे जैसे वरिष्ठ नेता शामिल हैं।