Delhi में फिर लौट सकता है Lockdown, जानें क्या है केजरीवाल सरकार की रणनीति?

|

Updated: 17 Nov 2020, 05:56 PM IST

  • दिल्ली कोरोना संक्रमण को लेकर केजरीवाल सरकार की नई रणनीति
  • भीड़भाड़ वाले बाजारों में लॉकडाउन लगाने के लिए केंद्र को प्रस्ताव

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ( Coronavirus in Delhi ) में लगातार बढ़ रही कोरोना मरीजों ( Coronavirus Case in India ) की संख्या के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ( CM Arvind Kejriwal ) ने बड़ा फैसला लिया है। केजरीवाल सरकार ( Delhi Govenment ) के फैसले के अनुसार अब दिल्ली में होने वाली शादी समारोह में केवल 50 लोग ही शामिल हो सकेंगे। इसके साथ ही केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के छोटे—छोटे इलाकों में लॉकडाउन ( Lockdown in Delhi ) लगाने के लिए केंद्र सरकार ( Central Government ) को प्रस्ताव भेजा है। केंद्र सरकार की ओर से अनुमति मिलते ही दिल्ली में एक बार फिर लॉकडाउन की स्थिति देखने को मिल सकती है। आपको बता दें कि दिल्ली में फैलते कोरोना संक्रमण के कारण अब शादी-विवाह, पार्टी इत्यादि में 50 से अधिक लोग एकत्र नहीं हो सकते। पहले 200 व्यक्तियों तक को शादी, पार्टी इत्यादि में शामिल होने की छूट थी। दिल्ली सरकार ने मंगलवार को इसे घटाकर 50 व्यक्ति कर दिया।

BJP ने Anurag Thakur को बनाया Jammu-Kashmir स्थानीय निकाय चुनाव का प्रभारी

केजरीवाल सरकार एक बार फिर एक्शन में

आपको बता दें कि राजाधानी दिल्ली में कोरोना से बिगड़ते हालातों के बीच केजरीवाल सरकार एक बार फिर एक्शन में दिखाई दे रही है। इसी का नतीजा है कि सरकार कोरोना की रोकथाम के लिए एक के बाद एक बड़े फैसले लेे रही है। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए दिल्ली सरकार केंद्र को एक प्रस्ताव भेजने वाली है। दिल्ली सरकार ने इस प्रस्ताव में भीड़भाड़ भरे बाजारों को अस्थाई रूप से बंद करने की इजाजत मांगी है। आपको बता दें कि दिल्ली में लोग सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना प्रोटोकॉल के अनुपालन में कमी देखने को मिली थी, जिसके चलते दिल्ली सरकार का यह फैसला लेने के लिए मजबूर होना पड़ा।

Bihar: महागठबंधन में आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी, RJD ने Congress पर साधा निशाना

हॉस्पिटलों में फिलहाल बेडों की संख्या पर्याप्त

इस दौरान सीए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटलों में फिलहाल बेडों की संख्या पर्याप्त है। हालांकि आईसीयू में अभी बेड की संख्या बढ़ाए जाने की जरूरत है, जिसके लिए केंद्र सरकार से मदद ली जा रही है। केजरीवाल ने कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिए सभी सरकारें मिलजुल कर काम कर रही हैं। लेकिन कई लोग कोरोना को लेकर लापरवाही का परिचय दे रहे हैं। ऐसे लोगों को सावधानी बरतने की जरूरत है।