19 साल की उम्र में घर से भाग गए थे मुकेश सहनी, जानें सेल्स मैन से लेकर पशुपालन मंत्री बनने तक का सफर

|

Published: 17 Nov 2020, 02:29 PM IST

  • VIP प्रमुख को नीतीश सरकार में मिला मत्स्य पालन और पशुपालन मंत्रालय
  • 19 साल की उम्र में मुंबई चले गए थे मुकेश सहनी
  • बॉलीवुड में सेट डिजाइनर के तौर पर मिली कामयाबी

नई दिल्ली। बिहार में एक बार फिर NDA सरकार का गठन हो चुका है। नीतीश मुख्यमंत्री बन चुके हैं, वहीं अब मंत्रिमंडल का विस्तार भी हो चुका है। नीतीश मंत्रिमंडल में एक ऐसे चेहरे को भी शामिल किया गया है, जिसकी कहानी बेहद दिलचस्प है। VIP के मुखिया मुकेश सहनी ( Mukesh Sahani ) को मत्स्य पालन और पशुपालन मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है। हालांकि, वह खुद चुनाव हार गए थे। इसके बावजूद उन्हें मंत्री बनाया गया है। आपको जानकर हैरानी होगी कि बेहद साधारण परिवार से तालुक रखने वाले मुकेश सहनी 19 साल की उम्र में घर छोड़कर मुंबई चले गए थे। लेकिन, जब लौटे तो काफी पॉपुलर हो चुके थे। आइए, जानते हैं उनके बारे में कुछ दिलचस्प बातें...

पढ़ें- बिहार : NDA से इस बार नहीं जीता कोई मुस्लिम प्रत्याशी, मंत्रिमंडल में पहली बार कोई मुस्लिम चेहरा नहीं

19 साल की उम्र में सहनी ने छोड़ दिया था घर

मुकेश सहनी भले ही खुद चुनाव हार गए, लेकिन इस चुनाव में उनकी पार्टी का बोलबाला रहा। VIP ने चार सीटों पर जीत दर्ज की है। लेकिन, राजनीति में आने से पहले मुकेश सहनी बिजनेस मैन के तौर पर अपनी पहचान बना चुके थे। कुछ कर गुजरने की चाहत से 19 साल की उम्र में मुकेश सहनी घर छोड़कर भाग मुंबई भाग गए थे। वहां, कुछ दिनों तक उन्होंने सेल्स मैन की नौकरी भी की। लेकिन, कुछ बात नहीं बनी। इसके बाद बॉलीवुड में उन्होंने एंट्री ली। मुकेश सहनी के दिमाग में फिल्मों, टीवी सीरियल्स और शो के सेट बनाने के बिजनेस का आइडिया आया। कहते हैं ना एक आइडिया, जो बदले दे आपकी जिंदगी। मुकेश सहनी के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। सेट बनाने का आइडिया काम कर गया और उन्हें कामयाबी मिलनी शुरू हो गई। सबसे बड़ी सफलता उन्हें उस वक्त मिली,जब उन्होंने संजय लीला भंसाली की फिल्म देवदास का सेट बनाया। यहीं से उनकी किस्मत पलटी और कामयाबी का रास्ता खुल गया। इस दौरान उन्होंने जमकर पैसे और नाम कमाए। इसके बाद उन्होंने 'मुकेश सिनेवर्ल्ड प्राइवेट लिमिटेड' नामक कंपनी भी बनाई।

इस तरह हुई राजनीति में एंट्री

बिजनेस में कामयाब होने के बाद मुकेश सहनी समाजिक कार्य में जुड़े और लोगों के बीच अपनी पहचान बनाई। फिर, एक दिन जब अखबारों में उनका विज्ञापन आया, जिसमें लिखा था 'सन ऑफ मल्लाह- मुकेश सहनी। उस विज्ञापन से मुकेश सहनी काफी चर्चा में आए और फिर उन्होंने राजनीति में एंट्री ली। 2018 में उन्होंने VIP नाम से अपनी पार्टी बनाई। उनकी पार्टी ने लोकसभा चुनाव में किस्मत आजमाई, लेकिन कामयाबी नहीं मिली। लेकिन, 2020 बिहार विधानसभा चुनाव में उन्होंने BJP के साथ गठबंधन किया और उनकी पार्टी को बड़ी कामयाबी मिल गई। वहीं, मुकेश सहनी खुद नीतीश सरकार में मंत्री भी बन गए हैं।

पढ़ें- मरने तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे थे कांग्रेस के दिवंगत नेता, क्या नीतीश कुमार तोड़ पाएंगे उनके कार्यकाल का रिकॉर्ड?