कोरोना से ठीक हो चुके संक्रमितों को हो रही हैं ये बीमारियां, समाधान के लिए शुरू होंगे ओपीडी

|

Published: 15 Nov 2020, 01:58 PM IST

1 से 2 महीने बाद भी शारीरिक दुर्बलता व सांस लेने में आ रही तकलीफ से काफी लोग परेशान हो रहे हैं।

ग्वालियर. मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले एक बार फिर से बढ़ने लगे हैं। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच मध्यप्रदेश के लोंगो के लिए एक राहत भरी खबर है। अगर आप कोरोना संक्रमण की चपेट में आने के बाद ठीक हो चुके हैं और अब कुछ दिन बाद आपको कमजोरी या अन्य कोई परेशानी हो रही है तो आप ग्वालियर के मुरार जिला अस्पताल, सिविल अस्पताल के साथ शहर के 5 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर पोस्ट कोविड ओपीडी शुरु की जा रही है। इन पोस्ट कोविड ओपीडी में पहुंचकर ये मरीज डॉक्टरों से परामर्श के साथ संबंधित रोग का उपचार भी करा सकेंगे।

शहर में अब तक 14 हजार से ज्यादा कोरोना के मामले
शहर में कोरोना संक्रमण की चपेट अभी तक 14 हजार से ज्यादा लोग आ चुके हैं। इनमें से 12 हजार से अधिक मरीज उपचार लेने के बाद ठीक हो चुके हैं, लेकिन ठीक होने के कुछ दिन या एक 1 से 2 महीने बाद भी शारीरिक दुर्बलता व सांस लेने में आ रही तकलीफ से काफी लोग परेशान हो रहे हैं।

उपचार से पहले एंटीबॉडी टेस्ट व एंटीजन जांच
पोस्ट कोविड ओपीडी में पहुंचने वाले मरीजों को उपचार से पहले एंटीबॉडी टेस्ट कराने की सलाह दी जाएगी, साथ ही साथ मौके पर मरीज का एंटीजन टेस्ट कर पता लगाया जाएगा कि संबंधित व्यक्ति वापस तो कोविड संक्रमित नहीं हो चुका है। साथ ही एंटीबॉडी टेस्ट कराने से पता चल सकेगा कि ठीक होने के बाद उसमें एंटीबॉडी का क्या स्तर है।

ठीक हो चुके संक्रमितों को ये आ रही परेशानी
कोविड उपचार लेने के बाद सैकड़ों मरीजों को किडनी, ब्लड प्रेशर, थायराइड, शुगर के साथ ही सांस लेने में तकलीफ होने के साथ ही मौसम सर्द होने के बाद नसों में खून का प्रवाह प्रभावित होने तक कि समस्या आ रही है।