तीन एक्सप्रेस ट्रेनों का बढ़ा स्टॉपेज, यात्रियों को मिलगी राहत

|

Updated: 27 Nov 2020, 06:43 PM IST

दो घंटे का ब्लॉक लेकर रेलवे स्टेशन पर लगाई जा रही नई रेल पटरियां
इंजीनियरिंग विभाग ने शुरू किया काम

 

Jhelum Express,Burhanpur,burhanpur hindi,in Burhanpur,get relief,burhanpur in hindi,Burhanpur MP,burhanpur station,Punjab Mail express,people will get relief,punjab mail train,Indin railway,Two hour Block Performance,

बुरहानपुर. कोरोना संक्रमण के चलते बंद पड़ी तीन ट्रेनें एक दिसंबर से शुरू हो रही हैं। बुरहानपुर स्टेशन पर रुकने वाली पंजाब मेल, झेलम एक्सप्रेस और कोलकत्ता मेल शुरू हो रही हैं। तीनों टे्रनों का स्टॉपेज स्टेशन पर होने से यात्रियों को आसानी होगी। रेलवे विभाग की ओर से कोविड स्पेशल ट्रेने चलाई जा रही हैं। इससे यात्रियों को कंर्फम टिकट मिलेगा। 10 से 12 ट्रेनों का स्टॉपेज ही स्टेशन पर हो रहा है। दिसंबर माह में ट्रेनों का स्टॉपेज बढ़ेगा।

रेलवे स्टेशन पर हर दिन 2 घंटे तक का ब्लॉक लेकर डाउन ट्रैक पर नई पटरियां लगाने का काम शुरू हो गया। रेलवे इंजीनियरिंग विभाग की टीम सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक पुरानी पटरियों को निकाल कर नई पटरियां लगा रही है। रेलवे यातायात प्रभावित न हो इसलिए खाली समय के अंदर स्टेशन पर पटरी बदलने का काम किया जा रहा है।

रेलवे अधिकारियों के अनुसार लगभग 10 वर्षों के बाद रेलवे स्टेशन पर नई पटरियां लग रही है। रेलवे इंजीनियरिंग विभाग की टीम हर दिन 2 घंटे का ब्लॉक लेकर पुरानी पटरियों को निकाल कर नई पटरियां लगा रहा है। एक दिन पहले से ही पूरी तैयारियां कर एक दिन में दो पटरियां बदली जाती है, जिसमें पटरियों को जोडऩे के साथ ही मजबूती के लिए 8 से अधिक जगहों पर वेल्डिंग भी होती है। सुबह के समय 2 घंटे तक कोई ट्रेन नहीं होने के कारण यह काम पूरा कर लिया जाता है। स्टेशन पर हो रहे पटरी बदलने के काम के लिए भुसावल मंडल से ब्लॉक ले रहे है। रेलवे पटरी से गुजरने वाली ट्रेनों की संख्या और समय के अनुसार मेंटेनेंस का काम होता है। इंजीनियरिंग विभाग द्वारा पटारियों को निरीक्षण करने के बाद आवश्यकता होने पर नई पटारियों को डालने के लिए कार्य योजना तैयार की गई थी।

बिरोदा से चांदनी तक पहला चरण
भुसावल मंडल इंजीनियरिंग टीम द्वारा सितंबर माह में ही नई पटरियां स्टेशन के पास डाल दी गई थी। पहले चरण में बिरोदा फाटे से लेकर असीर और चांदनी तक डाउन ट्रैक की पटारियों को बदला जा रहा है।ब्लॉक के अनुसार इंजीनियरिंग विभाग की टीम पटरियां बदलने का काम कर रही है। डाउन ट्रैक का काम पूरा होने के बाद संभावित अप ट्रैक का काम भी शुरू होगा।