क्या देश में अनोखा राजनीतिक इतिहास बनाने से चूक जाएगा लालू परिवार? मुकाबला है बेहद करीबी

|

Published: 10 Nov 2020, 08:10 PM IST

  • Bihar Election 2020: भारतीय राजनीति में आनोखा रिकॉर्ड बनाने की ओर लालू परिवार
  • तेजस्वी यादव अगर बने सीएम तो भारतीय राजनीति में बन जाएगा बड़ा रिकॉर्ड

नई दिल्ली। 2020 विधानसभा चुनाव की बिसात अब अपने अंतिम पड़ाव पर पहुंच चुकी है। इस बार का चुनाव काफी दिलचस्प रहा। हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि राज्य में किसकी सरकार बनने जा रही है। महागठबंधन और NDA के बीच कांटे की लगातार जारी है। लेकिन, अगर राज्य में महागठबंधन की सरकार बनती है और तेजस्वी यादव के सिर मुख्यमंत्री का ताज सजता है तो आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद के परिवार का नाम भारतीय राजनीति में स्वर्णाक्षरों में लिखा जाएगा। क्योंकि, देश में पहला ऐसा परिवार होगा, जिसमें पिता, माता और बेटे तीनों मुख्यमंत्री बनेंगे।

अनोखा रिकॉर्ड बनाने की ओर लालू परिवार

इस बार का विधानसभा चुनाव भले ही लालू प्रसाद के बिना लड़ा जा रहा है। लेकिन, उनके छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने कोई कसर नहीं छोड़ी। आखिरी चरण के मतदान होते-होते हर तरफ तेजस्वी का नाम गूंजने लगा था। एग्जिट पोल में महागठबंधन को पूर्ण बहुमत भी दिखाया गया। वहीं, जबसे वोटों की गिनती शुरू हुई तो तब से महागठबंधन और NDA के बीच कांटे की टक्कर जारी है। इतना ही नहीं कई बार तो महागठबंधन ने बढ़त भी बनाई। लेकिन, अंतिम फैसला होना अभी बाकी है। लेकिन, अगर महागठबंधन की जीत होती है तो यह तय है कि तेजस्वी यादव अगले मुख्यमंत्री बनेंगे। मुख्यमंत्री बनते ही लालू प्रसाद का परिवार का भारतीय राजनीति में अनोखा रिकॉर्ड बना लेगा। दरअसल, आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव खुद बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। वहीं, उनकी पत्नी राबड़ी देवी भी बिहार की कमान संभाल चुकी हैं। किसी भी राजनीति परिवार में अब तक ऐसा नहीं हुआ है।

जानें क्या होगा रामा रे...

गौरतलब है कि लालू प्रसाद 1990 से लेकर 1997 तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे। वहीं, राबड़ी देवी 1999 से लेकर 2005 तक बिहार की सीएम रहीं। लेकिन, चारा घोटाला में फंसने के कारण लालू की सियासी कमान ढीली पड़ती गई। बाद में बेटे तेजस्वी यादव और तेजप्रताप ने मोर्चा संभाला। अब देखना ये है कि इस चुनाव में लालू का परिवार यह अनोखा रिकॉर्ड बनाता है या फिर कोई और परिणाम सामने आता है। हालांकि, अब्दुल्ला परिवार में बाप-बेटे मुख्यमंत्री रह चुके हैं। जम्मू-कश्मीर के नेता फारूक अब्दुल्ला और उनके बेटे उमर अब्दुल्ला जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री रह चुके हैं।