अगर साथ में रह कर अगर NDA को 'रोशन' करते चिराग, तेजस्वी को खुद की सीट बचाना हो जाता मुश्किल

|

Published: 10 Nov 2020, 08:52 PM IST

  • Bihar Election: बिहार में बहुमत की ओर NDA
  • अगर NDA के साथ होती LJP, तेजस्वी के लिए हो जाती मुश्किलें

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनाव ( Bihar Election Results ) अब आखिरी मोड़ पर पहुंच चुका है। NDA बहुमत के करीब है, वहीं महागठबंध अब भी कड़ी टक्कर दे रही है। आलम ये है कि बिहार का मुकाबला बेहद दिलचस्प रहा। लेकिन, कई उलटफेर भी देखने को मिल रहे हैं। इसी कड़ी में आरजेडी नेता तेजस्वी जिस सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, अगर एलजेपी एनडीए का हिस्सा होती तो तेजस्वी को अपना सीट भी बचाना मुश्किल हो जाता। दरअसल, तेजस्वी यादव राघोपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। यहां एलजेपी ने भी अपना उम्मीदवार उतारा है, जिन्होंने अच्छे-खासे वोट हासिल किए हैं।

तेजस्वी को सीट बचाना हो जाता मुश्किल

दरअसल, राघोपुर सीट पर मुख्य मुकाबला राजद और बीजेपी के बीच है। तेजस्वी यादव 2015 विधानसभा चुनाव में यहां से जीत चुके हैं। वहीं, बीजेपी ने सतीश कुमार को अपना उम्मीदवार बनाया है। जबकि, एलजेपी ने राकेश रोशन को यहां से उतारा था। शुरुआथ में बीजेपी के सतीश कुमार आगे चल रहे थे। लेकिन, बाद में वह तेजस्वी यादव से पिछड़ गए। वहीं, लोजपा के राकेश रोशन ने अच्छे-खासे वोट हासिल किए हैं। ऐसे में कहा जा रहा है कि अगर लोजपा, NDA का हिस्सा होती तो तेजस्वी यादव को अपना सीट बचाना भी मुश्किल हो जाता। फिलहाल, इस सीट से तेजस्वी यादव आगे चल रहे हैं। तेजस्वी यादव ने यहां 27 हजार वोटों से बढ़त बनाए हुए हैं।