Bihar: कांग्रेस नेता का बड़ा दावा, NDA में शामिल हो सकते हैं पार्टी के 11 MLA

|

Published: 06 Jan 2021, 12:38 PM IST

  • Bihar में फिर चढ़ा सियासी पारा
  • कांग्रेस नेता भरत सिंह का बड़ा दावा
  • 11 पार्टी विधायक एनडीए में हो सकते हैं शामिल

नई दिल्ली। बिहार ( Bihar Politics ) की राजनीत में एक बार फिर बड़े बदलाव के संकते मिल रहे हैं। अभी राष्ट्रीय जनता दल के नेताओं के जेडीयू विधायकों के संपर्क में रहने का दावे से गर्माई राजनीति थमी नहीं थी, कि इस बीच कांग्रेस नेता ने बड़ा खुलासा किया है। बिहार कांग्रेस ( Congress ) नेता भरत सिंह ( Bharat Singh ) ने दावा किया है कि उनकी पार्टी के 11 विधायक एनडीए में शामिल हो सकते हैं।

कांग्रेस नेता के इस दावे के साथ ही बिहार में राजनीतिक पारा एक बार फिर हाई हो गया है। सिंह का कहना है कि कांग्रेस पार्टी में बड़ी टूट हो सकती है।

इसरो के टॉप वैज्ञानिक तपन मिश्रा का सनसनीखेज दावा, जहर देकर की गई मारने की कोशिश, घर में छोड़े गए सांप

बिहार विधानसभा चुनाव के बाद से प्रदेश की राजनीति में घमासान मचा हुआ है। राजद नेता जहां जेडीयू विधायकों के पार्टी में शामिल होने का दावा कर रहे हैं तो वहीं अब कांग्रेस के नेता भरत सिंह ने भी अपने दावे से खलबली मचा दी है।

दावे में इन दिग्गजों के नाम भी शामिल
भरत सिंह के मुताबिक कांग्रेस विधायक दल नेता अजित शर्मा को भी उन 11 लोगों में शामिल बताया। इतना ही नहीं दावा किया जा रहा है कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा भी छोड़ने वालों में शामिल होने वालों में शामिल है।

सिंह की मानें तो मदन मोहन झा वही रास्ता अपना रहे हैं जो अशोक चौधरी ने अपनाया था। उन्होंने ये भी खुलासा किया कि कांग्रेस के 11 विधायक पैसे देकर टिकट लिया और जीते। लेकिन अब ये ही 11 विधायक एनडीए में शामिल होने की तैयारी कर रहे हैं।

कांग्रेस छोड़े आरजेडी का साथ
यही नहीं अपने दावे में भरत सिंह ने आरजेडी से कांग्रेस को अलग होने की सलाह भी दी है।
आपको बता दें कि विधानसभा चुनाव 2020 में खराब प्रदर्शन के बाद बिहार कांग्रेस में विवाद की स्थिति बनी हुई है। पार्टी नेताओं में आपसी मतभेद की चर्चाएं लगातार बनी हुई हैं।

रेल यात्रियों के लिए आई अच्छी खबर, कोरोना काल में बंद की गई ट्रेनों को रेलवे ने फिर किया शुरू, देखें पूरी लिस्ट

पद से दिया इस्तीफा
आपको बता दें कि बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल के पद छोड़ने की इच्छा को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से हरी झंडी मिल गई है। अब ये पद भक्त चरण दास को सौंपा गया है।

शक्ति सिंह गोहिल ने सोमवार को पार्टी नेतृत्व से उन्हें बिहार प्रभारी के दायित्व से मुक्त करने और कोई ‘हल्की जिम्मेदारी’ देने का आग्रह किया था।