Budget session- 2 : तेल की बढ़ती कीमतों को लेकर राज्यसभा में विपक्ष का हंगामा, सदन 01 बजे तक के लिए स्थगित

|

Updated: 08 Mar 2021, 11:06 AM IST

Breaking :

  • राज्यसभा सभापति ने कहा कि विपक्ष लोकतंत्र का मजाक न उड़ाएं
  • हंगामे के बीच राज्यसभा की कार्यवाही 01 बजे तक के लिए स्थगित।

नई दिल्ली। आज राज्यसभा में बजट सत्र के दूसरे चरण की शुरुआत होने के कुछ समय बाद राज्यसभा को 01 बजे तक के लिए स्थागित कर दिया गया है। बजट सत्र के दूसरे चरण की कार्यवाही शुरू होने से पहले टीएमसी ने बजट सत्र को स्थगित करने की मांग की है। हंगामे के बीच राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने विपक्षी संदस्यों के हंगामे से बाज आने की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि बजट सत्र दो के पहले दिन हंगामा सही नहीं है। आप सदन को चलने दें। ऐसा न होने पर मुझे पहले दिन ही कार्रवाई के लिए मजबूर होना पड़ सकता है।

विपक्ष के हंगामे के बीच राज्यसभा दुबारा 01 बजे तक के लिए स्थगित।

बढ़ती कीमतों पर चर्चा कराने की मांग

तेल की बढ़ती कीमतों को लेकर राज्यसभा में कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों ने हंगामा मचाया और कार्यवाही को बाधित किया। विपक्ष की ओर से सदन की कार्यवाही 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। कांग्रेस के सांसदों ने तेल की बढ़ती कीमतो पर चर्चा की मांग करने के नारे लगाए।

शून्यकाल स्थगित करने की मांग

राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों पर चर्चा करने के लिए शून्यकाल स्थगित करने की मांग की। उन्होंने कहा कि देश में पेट्रोल की कीमत लगभग 100 रुपए और डीजल की कीमत लगभग 80 रुपए हो गई है। इसके अलावा रसोई गैस के दाम भी बढ़े हैं। उत्पाद शुल्क लगाकर 21 लाख करोड़ रुपए इकट्ठे किए गए हैंं। यही वजह है आज देश् का किसान पीड़ित है ।

बता दें कि ये सत्र आठ अप्रैल तक चलेगा और इसमें मोदी सरकार का मुख्य ध्यान वित्त विधेयक और साल 2021-22 के लिए अनुदान की अलग-अलग मांगों को पास कराने पर होगा। इसके अलावा सरकार ने और भी कई विधेयकों को पास कराने के लिए सूचीबद्ध किया है।