भाजपा बाहरी लोगों की पार्टी, बंगाल में जगह नहीं: ममता

|

Published: 27 Nov 2020, 07:47 PM IST

- वह राज्य को कभी भी 'दंगा-प्रभावित गुजरात' नहीं बनने देंगी

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को दावा किया कि भाजपा बाहरी लोगों की पार्टी है और राज्य में उनका कोई स्थान नहीं है। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने यह भी कहा कि वह बंगाल को कभी भी 'दंगा-प्रभावित गुजरात' नहीं बनने देंगी। ममता ने आश्चर्य जताया कि देश की सीमा पर स्थिति ठीक नहीं होने के बावजूद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह क्यों चुनावों में इतने व्यस्त हैं। ममता ने कहा कि उन्होंने अपने करियर में कभी भी ऐसा गृह मंत्री नहीं देखा है। ममता ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि बंगाल में बाहरी लोगों के लिए कोई जगह नहीं है। जो लोग सिर्फ चुनावों के दौरान राज्य में आते हैं और राज्य की शांति को बाधित करने की कोशिश करते हैं, उनका कोई स्वागत नहीं है। हाल ही में भाजपा ने राज्य को पांच संगठनात्मक क्षेत्रों में विभाजित किया है और केंद्रीय नेताओं को उनका प्रभारी बनाया है। ममता ने कहा कि वे (भाजपा) कह रहे हैं कि पश्चिम बंगाल को गुजरात में बदल देंगे। क्यों वे हमारे बंगाल को गुजरात जैसे दंगा-प्रभावित स्थान में बदलना चाहते हैं? हम दंगा नहीं चाहते। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का नाम लिए बिना ममता बनर्जी ने उन पर आरोप लगाया कि वह यह जताने की कोशिश कर रहे हैं कि उन्हें भाजपा के विरोध मार्च के दौरान पुलिस ने गिरफ्तार किया जबकि उन्हें हिरासत में नहीं लिया गया।
संघीय ढांचे को रखना होगा बरकरार
ममता बनर्जी ने संविधान दिवस के मौके पर लोगों का आह्वान करते हुए कहा है कि हमें भारत के संघीय ढांचे को बरकरार रखने के लिए प्रतिबद्ध होना होगा। उन्होंने ट्वीट किया कि संविधान दिवस की सभी को शुभकामनाएं। इस मौके पर डॉ भीमराव अंबेडकर और संविधान सभा को श्रद्धांजलि दे रही हूं जिन्होंने भारत के लोकतांत्रिक ढांचे को आकार दिया। आइए हम अपने संविधान कि उन भावनाओं को जीवित रखने का संकल्प लें जिनमें संप्रभुता, समाजवाद, धर्मनिरपेक्षतावादी, लोकतांत्रिक गणराज्य, न्याय, स्वतंत्रता, बंधुत्व, और समानता को महत्व दिया गया है।