चांदनी चौक में नेताओं का 'भक्ति' राग, BJP के बाद अब AAP ने बजरंगबली को मनाने के लिए की पूजा

|

Published: 20 Feb 2021, 01:40 PM IST

  • चांदनी चौक मची हनुमान भक्ति की होड़
  • बीजेपी के बाद आम आदमी पार्टी के नेताओं भी की बजरंगबली की पूजा
  • दोनों दलों में बड़ा भक्त बनने की होड़

नई दिल्ली। दिल्ली के चांदनी चौक ( Chandni Chowk ) में इन दिनों नेताओं पर भक्ति का रंग चढ़ा हुआ है। यहां बजरंगबली को लेकर सियासी घमासान खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) ने हनुमान की पूजा कर अपना भक्ति प्रेम दिखाया तो आम आमदी पार्टी ( AAP ) भी पीछे नहीं रही। भक्ति की इस दौड़ में आप नेताओं ने भी पूजा कर बजरंगबली के प्रति अपनी भक्ति का इजहार किया। आईए जानते हैं क्या है पूरा मामला।

पुरानी दिल्ली के चांदनी चौक में रातों रात बनाए गए हनुमान मंदिर को लेकर सियासत शुरू हो गई है। भाजपा और आम आदमी पार्टी (आप) दोनों ही दलों के नेता यहां पहुंचकर अपने-अपने तरीकों से खुद को सबसे बड़े बजरंग बली के भक्त के रूप में दिखाने में जुट गए हैं।

मॉडलिंग और एक्टिंग मेें हाथ आजमा चुकीं पामेला गोस्वामी, जानिए बीजेपी ने क्या सौंपी थी जिम्मेदारी

'आप' के एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने शनिवार को चांदनी चौक जाकर इस प्राचीन हनुमान मंदिर में बजरंग बली की पूजा-अर्चना के साथ ही हनुमान चालीसा का पाठ किया।

पाठक ने कहा कि यह मंदिर बजरंग बली के भक्तों ने बनाया है। उन्होंने कहा कि हमारी प्रार्थना है कि बजरंग बली सबको सद्बुद्धि दें और सबके संकट दूर करें।

उन्होंने कहा कि मैं भी बजरंग बली का भक्त हूं, मुझे ज्यादा टेक्निकल चीजें नहीं पता, स्थानीय लोगों और हनुमान भक्तों ने यह मंदिर बनाया है, इसलिए मैं भी यहां पूजा करने आया हूं।

ये पहला मौका नहीं जब किसी राजनीतिक दल के नेता ने यहां पूजा की। इससे पहले बीजेपी के नेता भी यहां बजरंगबली के प्रति अपना प्रेम दर्शा चुके हैं।

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने शुक्रवार को मंदिर स्थल जाकर कहा कि इलाके के हजारों लोगों की आस्था हनुमान मंदिर से जुड़ी है।

उन्होंने कहा कि अब लोग फिर से भगवान हनुमान का आशीर्वाद लेने लगेंगे और 'हनुमान चालीसा' का पाठ भी यहां शुरू होगा।

दरअसल चांदनी चौक इलाके में दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश पर प्रशासन की ओर से हनुमान मंदिर गिराए जाने की घटना के करीब डेढ़ महीने बाद उसी स्थान पर स्टील का बना एक अस्थायी मंदिर खड़ा कर दिया गया है।

उत्तर दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) के महापौर ने शुक्रवार को दावा किया कि यह मंदिर हनुमान भक्तों ने तैयार किया है।

महापौर ने यहां आकर पूजा करने के बाद कहा कि भले ही यहां तय प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया है, लेकिन श्रद्धालुओं की भावना का सम्मान करना होगा।

नीतीश के मंत्री का महंगाई को लेकर विवादित बयान, बोले- जनता को पड़ जाती है इसकी आदत

इसलिए हुआ था विवाद
आपको बता दें कि चांदनी चौक के सौंदर्यीकरण की योजना के तहत यहां के पुराने हनुमान मंदिर को गिराने को लेकर बीजेपी और 'आप' की दिल्ली इकाइयों के बीच जनवरी की शुरुआत में विवाद हो गया था।