प्रशांत किशोर के खिलाफ बिहार में बड़ी कार्रवाई, प्रशासन ने घर पर चलाया बुल्डोजर

|

Published: 13 Feb 2021, 12:42 PM IST

  • बिहार के बक्सर में प्रशांत किशोर के घर चला सरकारी बुल्डोजर
  • पुश्तैनी घर की जमीन पर प्रशासन ने किया कब्जा
  • एनएच-84 को फोर लेन बनाने के लिए चल रही जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई

नई दिल्ली। नीतीश कुमार से खटपट और जेडीयू से दूरी के बाद से ही बिहार में रणनीतिक सलाहकार प्रशांत किशोर को लेकर सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। इस बीच एक और बड़ी खबर सामने आई है। बक्सर में प्रशासन ने पीके के पुश्तैनी घर पर बुल्डोजर चला दिया है।

सरकारी अमले ने जनता दल यूनाइटेड के पूर्व नेता प्रशांत किशोर के पुश्‍तैनी घर की चहारदीवारी तोड़ दी है। इसी के साथ घर के ब्रह्म स्‍थान को भी तोड़ दिया गया है। प्रशासन ने इस कार्रवाई के बाद खाली हुई जमीन कब्‍जे में ले ली है।

एस्ट्रोनॉमर्स को मिली बड़ी कामयाबी, अंतरिक्ष में खोजा सबसे दूर पाया जाने वाला पिंड फारफारआउट

बिहार के बक्सर में प्रशांत किशोर के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए सरकारी अमले ने उनके पुश्तैनी मकान को तोड़ दिया है। प्रशासन ने ना सिर्फ इस मकान को तोड़ा बल्कि इस जमीन को भी अपने कब्जे में ले लिया।
हालांकि अब तक इस बारे में प्रशांत किशोर की ओर से कोई रिएक्शन सामने नहीं आया है।

इस वजह से चला बुल्डोजर
मिली जानकारी के मुताबिक एनएच-84 को फोर लेन बनाए जाने के लिए इन दिनों जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई चल रही है।

इसी क्रम में पीके के पुश्‍तैनी घर पर भी सरकार की अपने नजरें तरेरी हैं। उनके घर का कुछ हिस्‍सा अधिग्रहित किया गया है। बुल्‍डोजर के साथ पहुंचे अधिकारियों-कर्मचारियों ने प्रशांत किशोर के घर की चहारदीवारी और ब्रह्म स्‍थान को ध्‍वस्‍त करा दिया।

घर के बाहर जमा हुए लोग
पीके के घर पर जैसे ही सरकारी अमला पहुंचा वैसे ही उनके घर के बाहर लोगों की भीड़ जमा हो गई। किसी भी तरह की कोई बाधा ना आए या हिंसा ना हो इसी को ध्यान में रखते हुए अधिकारियों ने निर्देश दिया और 10 से 15 मिनट के अंदर कार्रवाई पूरी कर ली गई।

प्रशांत किशोर के घर की चहारदीवारी और गेट को तोड़ दिया गया। इसके बाद ब्रह्मस्‍थान पर बुल्‍डोजर चला। इस दौरान किसी ने इस पूरी कार्रवाई का कोई विरोध नहीं किया।

पीके के पिता ने बनवाया था घर
प्रशांत किशोर का ये मकान उनके पिता श्रीकांत पांडेय ने बनवाया था। बिहार में प्रशांत इस घर में नहीं रहते थे। मिली जानकारी के अनुसार उन्‍होंने अभी तक इस जमीन का मुआवजा भी नहीं लिया है।
प्रशासन का कहना है कि पूरी कार्रवाई नियमों के तहत की गई है।

आतंकियों के निशाने पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, जैश आतंकी के पास मिले वीडियो से हुआ खुलासा

इसलिए बढ़ी पीके और नीतीश के बीच दूरी
पीके और नीतीश कुमार के बीच पिछले कुछ समय से रिश्ते ठीक नहीं चल रहे। दरअसल इसके पीछे बड़ी वजह एनआरसी है। एनआरसी के मुद्दे पर मतभेद के चलते वह जद यू से अलग हो गए।

इससे पहले नीतीश कुमार ने उन्हें जद यू में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया था। वह उनके चुनावी रणनीतिकार माने जाते थे।