Bihar Election: बीच चुनाव नीतीश ने BJP में ही लगाई सेंध, इस दिग्गज नेता को पार्टी में किया शामिल

|

Published: 21 Oct 2020, 07:41 AM IST

  • Bihar Election: BJP को झटका, JDU में शामिल हुए पूर्व MLC अनुज सिंह
  • टिकट कटने से नाराज थे भाजपा नेता, जेडीयू में मिली प्रदेश उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनाव ( Bihar Vidhan Sabha Chunav ) को लेकर सियासी माहौल गर्म है। जैसे-जैसे मतदान का समय नजदीक आते जा रहा है, कई समियासी समीकरण बदलते जा रहे हैं। इसी कड़ी में बड़ा सियासी उलटफेर NDA में ही हुआ है। क्योंकि, नीतीश कुमार ( Nitish Kumar ) ने अपने सहयोगी दल बीजेपी को ही बड़ा झटका दिया है। बीजेपी (BJP) के जाने-माने नेता और पूर्व विधान पार्षद अनुज कुमार ( Anuj Kumar ) सिंह जेडीयू (JDU) में शामिल हो गए हैं। खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उन्हें पार्टी की सदस्या दिलाई। चुनाव के बीच इस उठापटक ने बिहार में सियासी सरगर्मी और बढ़ा दी है।

पढ़ें- पीएम मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन पर कांग्रेस का हमला, कहा – कोरोना से निपटने में विफल रही सरकार

BJP के कद्दावर नेता JDU में शामिल

इस बार बिहार चुनाव ( Bihar Election 2020 ) में कई बदलाव देखने को मिल रहे हैं। हर दिन नए समीकरण बन रहे हैं। इसी कड़ी में मंगलवार को बड़ा सियासी उलटफेर हुआ। गया से बीजेपी के कद्दावर नेता अनुज कुमार सिंह जेडीयू में शामिल हो गए हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने आवास पर उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई। इस मौके पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी भी मौजूद रहे। जेडीयू में शामिल होते ही अनुज सिंह को बड़ी जिम्मेदारी भी दी गई है। प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने जेडीयू का प्रदेश उपाध्यक्ष घोषित किया है। जेडूयी में शामिल होने के बाद अनुज सिंह ने कहा कि इस चुनाव में वह जेडीयू के लिए कड़ी मेहनत करेंगे और नीतीश कुमार जो आदेश देंगे उसका पालन किया जाएगा।

पढ़ें- PM Narendra Modi का राष्ट्र को संदेश- जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं

टिकट कटने से नाराज थे अनुज सिंह

गौरतलब है कि गया के नक्सल प्रभावित इलाके इमामगंज के रहने वाले अनुज कुमार सिंह जेडीयू से ही MLC बने थे। लेकिन, पिछले चुनाव में आरजेडी से गठबंधन होने के बाद वह बीजेपी में शामिल हो गए थे। बताया जा रहा है कि अनुज सिंह वजीरगंज विधानसभा सीट से बीजेपी टिकट पर चुनाव लड़ना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने काफी जोर भी लगाया था। लेकिन, अंत में बीजेपी ने वीरेन्द्र सिंह को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया। लिहाजा, वह पार्टी के नेताओं से नाराज चल रहे थे और बीच चुनाव उन्होंने जेडीयू का दामन थाम लिया है। अनुज सिंह के जेडीयू में शामिल होने से बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। गौरतलब है कि बिहार में इस बार दल-बदल की राजनीति जमकर हो रही है। कई आरजेडी नेता जेडीयू में शामिल होकर इस बार चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं, राजद ने भी कई पार्टियों में सेंध लगाई है। लिहाजा, इस बार का मुकाबला बेहद दिलचस्प होते जा रहा है। अब देखना ये है कि इस उठापठक का असर चुनाव पर किस तरह पड़ता है।