Assam CM Suspense : सरमा को मिल सकती है असम की कमान, विधायक दल की बैठक में होगा ऐलान

|

Updated: 09 May 2021, 09:35 AM IST

Assam CM Suspense से आज पर्दा उठ सकता है। आज विधायक दन की बैठक में नए सीएम का ऐलान मुमकिन है। हेमंत बिस्वा सरमा और सर्बानंद सोनोवाल की बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं के साथ मुलाकात हुई। जिसके बाद दोनों बाहर निकलकर एक गाड़ी से रवाना हुए।

Assam CM Suspense। असम का नया सीएम कौन होगा? हेमंत बिस्वा सरमा या सर्बानंद सोनोवाल, आज इस बात से पर्दा हट जाएगा। विधायक दल की बैठक में दोनों में से एक के नाम पर मुहर आज लग जाएगी। खबरों की मानें तो हेमंत बिस्वा सरमा पर आम सहमति बन सकती है। वहीं दूसरी ओर सर्बानंद सोनोवाल दिल्ली बुलाकर नई जिम्मेदारियों से लैस किया जा सकता है। आपको बता दें कि शनिवार को दोनों ही नेता गृहमंत्री अमित शाह अलग-अलग गाडिय़ों से मिलने पहुंचे मुलाकात के बाद सरमा और सोनवाल एक ही गाड़ी से रवना हुए।

यह भी पढ़ेंः- Coronavirus in India : कोरोना का कहर जारी, 24 घंटे में करीब 4100 लोगों की हुई मौत

बीजेपी हाईकमान के बीच बैठक
भाजपा हाईकमान ने असम सीएम सस्पेंस खत्म करने के लिए शुक्रवार को सरमा और सोनोवाल दोनों को दिल्ली बुलाया था। जेपी नड्डा के निवास पर दोनों नेताओं के साथ अमित शाह और भाजपा महासचिव (संगठन) बीएल संतोष और पार्टी अध्यक्ष के बीच तीन दौर की बैठकें चली। चार घंटे से ज्यादा समस तक चली यह बैठकों के तहत पहले फेज में दोनों नेताओं के साथ अलग-अलग वार्ता की गई। उसके बाद दोनों को एक साथ बुलाया गया। खास बात तो यह है कि नड्डा के निवास पर सरमा और सोनोवाल अलग-अलग गाडिय़ों से आए थे, लेकिन जाते समय एक ही गाड़ी से रवाना हुए।

यह भी पढ़ेंः- Mothers Day 2021: Mutual Funds से Gold Bonds तक, अपनी मां को दे सकते हैं 5 फाइनेंशियल उपहार

इस बार सरमा हो सकते हैं सीएम
केंद्रीय नेतृत्व इस बार सरमा को असम के सीएम के रूप में देखना चाहता है। वैसे ऐलान विधायक दल की बैठक के बाद होगा 2016 में सोनोवाल को सीएम पोस्ट के लिए प्रमोट किया गया। जिसके बाद पूर्वोत्तर भारत में पहली बार बीजेपी की सरकार बनी थी। इस बार बीजेपी ने कहा था कि सीएम की पोस्ट के लिए बाद में फैसला लिया जाएगा और असम चुनाव की जिम्मेदारी सरमा को सौंप दी। इस बार भाजपा ने 126 सदस्यीय असम विधानसभा में 60 सीटों पर जीत दर्ज की है, जबकि उसकी गठबंधन सहयोगी असम गण परिषद से नौ और यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल ने छह सीटें जीतीं हैं।