कांग्रेस के आरोप पर Amit Shah ने कहा, 'मैं टैगोर की कुर्सी पर नहीं बैठा' नेहरू, राजीव बैठे

|

Updated: 09 Feb 2021, 09:49 PM IST

  • लोकसभा में अमित शाह ने कांग्रेस के आरोप पर किया पलटवार
  • बोले-टैगोर की कुर्सी पर मैं नहीं, नेहरू और राजीव बैठे थे

नई दिल्ली। लोकसभा में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन चौधरी ( Congress leader Adhir Ranjan Chaudhary )ने आरोप लगाया था कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ( Union Home Minister Amit Shah )
पश्चिम बंगाल ( Wet Bengal ) की हालिया यात्रा के दौरान नोबेल पुरस्कार विजेता कवि रवींद्रनाथ टैगोर ( Rabindranath Tagore ) की कुर्सी पर बैठे थे, जिसपर पलटवार करते हुए शाह ने मंगलवार को कहा कि वह कुर्सी पर नहीं बैठे थे, बल्कि एक खिड़की पर बैठे थे। शांति निकेतन में विश्व-भारती विश्वविद्यालय के वाइस-चांसलर के एक पत्र का उल्लेख करते हुए शाह ने निचले सदन में स्पष्ट किया कि चौधरी का यह दावा कि उन्होंने उस स्थान की गरिमा का उल्लंघन किया, पूरी तरह से गलत था।

हरियाणा: राकेश टिकैत बोले- 4 लाख नहीं अब 40 लाख ट्रैक्टरों की रैली देखेगी सरकार

रवींद्रनाथ टैगोर की कुर्सी पर नहीं बैठा

शाह ने यह भी कहा कि उनकी यात्रा के दौरान उस स्थान की गरिमा का किसी भी प्रकार से उल्लंघन नहीं किया गया, क्योंकि वह कुर्सी पर नहीं, बल्कि एक खिड़की पर बैठे थे। उन्होंने सदन से कांग्रेस नेता द्वारा लगाए गए आरोप को हटाने और उनके स्पष्टीकरण और सबूत को रिकॉर्ड में रखने का भी अनुरोध किया। शाह ने कहा, "मैं रवींद्रनाथ टैगोर की कुर्सी पर नहीं बैठा। मैं लोकसभा में स्पष्ट करना चाहता हूं कि मेरी किसी की भी भावना को ठेस पहुंचाने का इरादा नहीं था।" उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व प्रधान मंत्री राजीव गांधी, बांग्लादेश की प्रधान मंत्री के साथ-साथ शांतिनिकेतन में टैगोर के निवास पर आगंतुक की पुस्तक पर हस्ताक्षर करने के लिए खिड़की पर बैठे कुछ अन्य राजनीतिक नेताओं की तस्वीर भी दिखाई।

जवाहर, पटेल, इंदिरा पर उंगली उठाना गलत, कल आप पर भी सवाल उठेंगे: फारुख अब्दुल्ला

टैगोर की कुर्सी पर बैठने का आरोप लगा था

इससे पहले, चौधरी ने शाह पर पिछले साल दिसंबर में शांतिनिकेतन की यात्रा के दौरान टैगोर की कुर्सी पर बैठने का आरोप लगाया था। इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राज्य सभा में जानकारी देते हुए कहा कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार की एजेंसिया चमोली हादसे में मौजूदा स्थिति की निगरानी कर रही हैं। अमित शाह ने कहा कि 450 आईटीबीपी के जवाब, एनडीआरएफ की पांच टीमें, इंडियन आर्मी की आठ और नेवी की एक टीम मौके पर जुुटी हुई है। इसके साथ ही इंडियन एयरफोर्स के पाय हेलिकॉप्टर को भी राहत व बचाव कार्यों में लगाया गया है।