लॉकडाउन ने कल्चरल वैल्यूज को फिर से जिंदा किया

|

Updated: 03 Jun 2020, 07:46 PM IST

- फैमिली के साथ बिताया टाइम
- एक्सराइज, मेडिटेशन और रीडिंग पर रहा फोकस

जयपुर. लॉकडाउन ने फैमिली की बॉन्डिंग बढ़ाने के साथ-साथ कल्चरल वैल्यूज को भी फिर से जिंदा किया है। हमारी संस्कृति में घर के अंदर जाने से पहले हाथ-पैर धोने की आदत रही है। लेकिन धीरे-धीरे इन सभी आदतों को भुला दिया गया था। आज संक्रमण के दौर में हम इन आदतों को वापस अपना रहे हैं। यह कहना है क्लेट प्रेप एजुकेशन के डायरेक्टर अभिषेक चतुर्वेदी का। वे कहते हैं क्रिकेट, चेस, कैरम खेलने का समय ही नहीं मिलता था, ऐसे में लॉकडाउन में बच्चों के साथ सभी गेम्स खेले। रामायण और महाभारत एक बार फिर देखा। एक हैल्दी रूटीन को फॉलो किया। दिन में एक घंटे योग और मेडिटेशन करता हूं। कुछ मैनेजमेंट की बुक्स पढऩे का भी मौका मिला है।

स्टूडेंट्स के लिए फ्री वीडियो सीरीज
इंस्टीट्यूट के वर्क में चेंज किए हैं। ऑनलाइन क्लासेस के साथ-साथ क्लेट की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स के लिए फ्री वीडियो सीरीज शुरू की है। वहीं ऑनलाइन टेस्ट सीरीज भी उपलब्ध करवा रहे हैं। मुझे लगता है कि हमें कोरोना को लेकर ज्यादा सोचने की बजाय अवेयरनेस और इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग करने की जरूरत है। हैल्दी लाइफस्टाइल फॉलो करें और अपने काम में जुट जाएं।