सुमिरन सीरीज में कलाकारों ने सोशल मीडिया पर दी प्रस्तुति

|

Published: 06 Apr 2020, 05:47 PM IST

 

राजस्थान फोरम की मुहिम पर शहर के गायक लता और सुरेश गहलोत ने सुनाए भजन और गीत

जयपुर. कोरोना लॉकडाउन के दौरान आर्ट एंड कल्चर की एक्टीविटीज के बंद होने के बाद राजस्थान फोरम ने शहर के कलाकारों को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म देने की शुरुआत रविवार से की। फोरम की सीरीज 'सुमिरनÓ के तहत रविवार को फेसबुक पर शहर के सिंगर लता और सुरेश गहलोत रूबरू हुए। दोनों कलाकारों ने इस मौके पर भक्ति की सगुण और निर्गुण भक्ति धारा की रचनाओं के अलावा कई लोकप्रिय प्रेरक गीत भी सुनाए। कार्यक्रम की शुरुआत कलाकारों ने भरत व्यास की चर्चित रचना 'ज्योत से ज्योत जगाते चलो, प्रेम की गंगा बहाते चलोÓ से की। इसके बाद कलाकारों ने कभी एकल और तो कभी युगल रूप से 'अच्चुत केशवम कृष्ण दामोदरम, जनम सफल होगा रे बंदेÓ, 'सुख के सब साथी दुख में न कोई, कभी राम बनके कभी श्याम बनकेÓ, 'तू हिंदू बनेगा ना मुसलमान बनेगा इंसान की औलाद है इंसान बनेगाÓ और 'श्रीराधे गोविंदा मन भज ले हरि का प्यारा नाम हैÓ जैसी प्रेरक भक्ति रचनाओं से घरों में रह रहे लोगों को आध्यात्मिक सुध की अनुभूति करवाई। दोनों कलाकारों ने लोगों को एक होकर कोरोना से डटकर मुकाबला करने की अपील की साथ ही घर की लक्ष्मण रेखा भी नहीं लांघने की सलाह दी।