शहर के अंदर गोबर के ढेर और डेयरी का संचालन

|

Updated: 02 Dec 2019, 11:47 AM IST

सीसी रोड में भी कचरे की मोटी पर्त
रानीगंज मोहल्ले के अंदर की गलियों में नहीं होती नियमित सफाई
सड़कों में दिनभर बिखरा रहता है गोबर, आवागमन में परेशानी

शहर के अंदर गोबर के ढेर और डेयरी का संचालन

पन्ना. रानीगंज मोहल्ला में कई स्थानों पर शहर के अंदर डेयरी संचालित हो रही हैं। इसके कारण गोबर के बड़े-बड़े ढेर लगे हुए हैं। दिनभर सड़कों में गोबर बिखरा रहता है और गोबर की दुर्गंध से आसपास के लोगों का जीना दूभर हो रहा है। वार्ड में नालियां भी नियमित रूप से साफ नहीं की जाती हैं। इससे नालियों का गंदा पानी जगह-जगह सड़कों में बहता रहता है। यहां तक की नगर पालिका से चंद कदम की दूरी पर भी ऐसे ही हालात बने रहते हैं।


गौरतलब है कि नगरीय क्षेत्र में डेयरी का संचालन प्रतिबंधित है। इसके बाद भी नगर के रानीगंज मोहल्ले में अवैधानिक रूप से कई डेयरियों का संचालन किया जा रहा है। जिसकी जानकारी नगर के जिम्मेदार लोगों को भी है। इसके बाद भी सालों से अवैधानिक रूप से चल रही इन डेयरियों को प्रतिबंधित करने की कार्रवाई नहीं की जा रही है। जबकि इन्हीं डेयरियों के कारण वार्ड के लोगों का जीवन नर्क बन गया है।


सड़कों के किनारे गोबर के ढेर
नगर के रानीगंज मोहल्ला में डेयरी का अवैध रूप से संचालन तो किया ही जा रहा है साथ ही गांवों में तरह सड़कों के किनारे गोबर के ढेर लगा दिए गए हैं। इनकी दुर्गंध से आसपास रहने वाले लोगों का जीना दूभर हो रहा है। डेयरियों के आपास के क्षेत्र में पूरी सड़क में गोबर बिखरा रहता है। इससे लोग फिसलकर गिर भी रहे हैं। स्थानीय संतोष रैकवार ने बताया कि मोहल्ले में सप्ताह में सिर्फ एक ही दिन सफाई होती है। सड़कों के किनारे का कचरा भी नहीं उठाया जाता है।


सीसी रोड में भी कचरे की मोटी मोटी पर्त
मोहल्ले के सीमावर्ती क्षेत्र में कुछ स्थान ऐसे भी हैं जहां सड़कों के किनारे ट्रालियों कचरा तो है ही साथ ही सीसी रोड के ऊपर भी कई-कई फीट कचरे की मोटी पर्त जमी हुई है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि इन सड़कों की महीनों सफाई नहीं होती है। वार्ड के मनसुख बताते हैं कि वार्ड में हफ्ते में एक ही दिन सफाई होती है नालियां भी हफ्तों साफ नहीं की जाती हैं। इसी का परिणाम है कि नालियों का पानी सड़कों में भरा रहता है। इससे लोगों को आवागमन में काफी परेशानियां उठानी पड़ती हैं। जिसकी ओर जिम्मेदार लोग ध्यान नहीं दे रहे हैं। राजकुमार ने बताया मोहल्ले में साफ-सफाई की बदहाली को लेकर लोगों में असंतोष है।

मोहल्ला में डेयरी नहीं चल रही हैं। लोगों ने घरों में मवेशी पाल रखे हैं।
वीरेंद्र चौरसिया, सफाई प्रभारी