हनीट्रेप का मामला : स्पा पार्लर की दलाल युवती भी गिरफ्तार, बातों से फंसाती थी, अब खुलेंगे कई राज

|

Published: 02 Aug 2021, 07:32 AM IST

- कई नामी लोगों के अश्लील वीडियो आए सामने, लेकिन मुकदमा दर्ज नहीं करवा रहे

पाली। पाली में हनीट्रेप के मामले में रिमाण्ड पर चल रही दो युवतियां व मुख्य आरोपी रमेश ने पुलिस के समक्ष कई राज खोले हैं। इधर, मामले में फरार चल रही स्पा पार्लर पर काम करने वाली दिल्ली निवासी शीतल उर्फ श्वेता को भी पुलिस ने जालोर से गिरफ्तार किया है। यह युवती घटना के बाद से फरार थी। वह जालोर से दिल्ली भागने वाली थी। इससे पहले ही पाली से पहुंचे पुलिस दल ने उसे पकड़ लिया। पूछताछ में पता चला है कि घटना का मुख्य आरोपी रमेश जणवा चौधरी ने अपने कुछ दलाल भी बना रखे थे, जो ऐसी मछलियों को फांसने में मदद करते थे। इसमें खिंवाड़ा क्षेत्र में रहने वाले कुछ लोगों के नाम भी सामने आए हैं। नामजद आरोपी गणेश देवासी, बाबूलाल मेघवाल, मोहम्मद रफीक उर्फ खली सहित अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है।

मीठी बातों से फंसाती ग्राहक, रकम व जेवरात लूटते
पुलिस के अनुसार अरोपी ब्यूटीशियन व स्थानीय स्पा में काम करने वाली युवती शीतल उर्फ श्वेता से पूछताछ जारी है। वह भी मीठी बातों में लाकर लोगों को फंसाती, फिर उसके गिरोह के लोग वीडियो बनाकर नामचीन लोगों को ब्लेकमेल करते और जेवरात व रुपए लूट लेते। फिलहाल पुलिस के पास पीडि़त सामने नहीं आ रहे है। पुलिस को आरोपी रमेश व उसकी कथित पत्नी भावना व दिव्या के मोबाइल में कई वीडियो व फोटो मिले हैं। पुलिस को पता चला है कि आरोपियों ने पाली शहर से लेकर ग्रामीण अंचल के डॉक्टर, वकील, सरकारी अधिकारी-कर्मचारियों से लेकर कई नामी लोगों के अश्लील वीडियो बनाकर उनको ब्लैकमेल कर रुपए वसूले थे।

दो युवतियां गिरफ्तार होते ही श्वेता पाली से भागी
पुलिस ने जब गिरोह का पर्दाफाश कर आरोपी भावना व दिव्या को गिरफ्तार किया तो स्पा पार्लर में काम करने वाली श्वेता पाली से बाड़मेर भाग गई। वहां से जालोर निकल गई। जालोर से दिल्ली भागने की फिराक में थी, लेकिन पुलिस ने उसे पकड़ लिया। रिमाण्ड पर चल रहे आरोपी नारलाई निवासी रमेश जणवा चौधरी, उसकी कथित पत्नी भावना व दिव्या से पूछताछ जारी है।

भावना ने मचाया हंगामा
खिंवाड़ा की भावना सरगरा के साथ लिव इन रिलेशन में रहने के दौरान पहले तो यह लोग औद्योगिक क्षेत्र इलाके में कमरा किराए पर लेकर रहते थे। दो महीने पहले ही यह केशव नगर में रहने आए थे। दोनों के बीच रात में किसी बात को लेकर झगड़ा होने पर भावना को अकेला ही छोडकऱ रमेश जणवा निकल गया। इस बीच भावना भी रात में उसके नारलाई गांव में पहुंच गई। उसके घर के आगे हंगामा किया।

महिला सुरक्षा सहायता संगठन की भूमिका रही सराहनीय
इस गिरोह का खुलासा करने में महिला सुरक्षा सहायता संगठन की भूमिका सराहनीय रही। संगठन टीम पाली प्रवक्ता नेहा श्रीमाली ने बताया कि सबसे पहले भावना को इस संगठन के कार्यकर्ता ही पुलिस के पास लेकर गए। इसके बाद रमेश पकड़ में आया। संगठन के जिलाध्यक्ष कुलदीप पंवार, कानूनी सलाहकार चेतन चौहान, अंकिता बोहरा, महेन्द्र पुरी, ललिता परिहार, राजश्री वैष्णव, रेखा सोलंकी, निशा मालवीय, सिंटू अरोड़ा, विजेंद्र वैष्णव आदि का सहयोग रहा ।