पाकिस्तान के कोयला खदान में भूस्खलन के कारण चार मजदूरों की मौत

|

Published: 25 Jul 2021, 10:51 PM IST

मजदूर खदान में काफी अंदर जाकर कोयले के लिए खुदाई में जुटे थे, तभी शनिवार को भूस्खलन हो गया।

लाहौर। पाकिस्तान के दक्षिण पश्चिम बलूचिस्तान प्रांत की एक कोयला खदान में भारी बरसात के बाद भूस्खलन होने के कारण चार मजदूरों की मौत हो गई। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मजदूर खदान में काफी अंदर जाकर कोयले के लिए खुदाई में जुटे थे, तभी शनिवार को भूस्खलन हो गया। सभी मजदूर उसमें फंस गए। यह खदान हरनाई जिले के शाहराग इलाके में स्थित है।

ये भी पढ़ें: जर्मनी में टीका न लगवाने वाले लोगों पर लगेगी पाबंदियां, जारी की चेतावनी

खदान प्राधिकरण के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि वे अंदर ही फंस गए थे और भूस्खलन में मलबे से उन्हें बचाने के प्रयास काम नहीं आया। बलूचिस्तान कोल माइंस वर्कर्स फेडरेशन के अध्यक्ष सुल्तान मुहम्मद लाला के अनुसार गैस रिसाव या भूस्खलन के कारण कोयला खदानों के अंदर विस्फोट आम घटनाएं हैं।

उन्होंने कहा कि अधिकारी ऐसे खतरनाक हालात की परवाह नहीं करते हैं। कामगारों को ऐसे मुश्किल हालात में काम करना पड़ रहा है। बलूचिस्तान में नियमित रूप से खनन दुर्घटनाएं होती रहती हैं। हरनाई जिले को कोयला श्रमिकों के लिए सबसे खतरनाक क्षेत्र माना गया है।

ये भी पढ़ें: तालिबानी घुसपैठियों को रोकने के लिए अफगानिस्तान ने 31 प्रांतों में लगाया नाइट कर्फ्यू

मार्च में भी ऐसी घटना सामने आई थी, जब एक विस्फोट के बाद सात खनिकों की मृत्यु हो गई थी। इससे वे उसी क्षेत्र में भूमिगत हो गए थे। मार्च में प्रांत के बोलन जिले में एक अन्य कोयला खनन घटना में, खदान के अंदर मीथेन गैस विस्फोट में छह श्रमिकों की मौत हो गई थी।