मसूद अजहर की मौत पर सस्पेंस खत्म, धमाके में जैश सरगना को एक भी खरोंच नहीं

|

Updated: 27 Jun 2019, 07:12 PM IST

  • मसूद अजहर को रावलपिंडी सैन्य अस्पताल धमाके में नहीं आई एक भी खरोच
  • धमाके बाद उड़ रही थी जैश-ए-मोहम्मद सरगना की मौत की अफवाह

रावलपिंडी। पाकिस्तान के सैन्य अस्पताल में हमले के बाद से जैश-ए-मोहम्मद ( Jaish-e-mohammad ) के सरगना मौलाना मसूद अजहर ( Masood Azhar ) के मौत को लेकर सस्पेंस अब खत्म हो गया है। इस संशय पर भारत की खुफिया एजेंसियों ने महत्वपूर्ण जानकारी दी है। एजेंसी ने पुष्टि की है कि इस हादसे में आतंकी अजहर मसूद बाल-बाल बच गया।

मसूद अजहर को नहीं आई एक खरोच

जानकारी के मुताबिक, रावलपिंडी सैन्य अस्पताल में हुए भारी विस्फोट ( Bomb blast in Pak hospital ) में मसूद अजहर को एक खरोच तक नहीं आई है। खुफिया एजेंसी की ओर से जारी की गई इस सूचना के बाद उन अफवाहों पर लगाम लग गया है, जिसमें दावा किया जा रहा था कि मसूद अजहर की मौत हो चुकी है। बता दें कि, जिस वक्त यह धमाका हुआ था उस वक्त अजहर अस्पताल में ही मौजूद था। अस्पताल में अजहर के किडनी का बीमारी का इलाज करा रहा था।

भारत को जख्म देने वाला टेरेरिस्ट मसूद अजहर खुद हुआ जख्मी, इन 10 प्वाइंट्स में जानें कैसे बना आतंकी

पाकिस्तानी सुरक्षा सूत्र का दावा

अस्पताल में मौजूद एक पाकिस्तानी सुरक्षा सूत्र के हवाले से भी दावा किया जा रहा है कि अजहर सुरक्षित बच निकला। सूत्र ने कहा, 'बिना किसी संदेह के कहा जा सकता है कि सैन्य अस्पताल में भारी विस्फोट हुआ था, अजहर बिना एक खरोच से वहां से भाग निकला।' जानकारी के मुताबिक इस धमाके में कुल 10 लोग घायल हुए थे।

मौलाना मसूद अजहर पर सस्पेंस बरकरार, पाक मीडिया और सरकार दोनों खामोश

किडनी का इलाज कराने सैन्य अस्पताल जाता था अजहर

अजहर किडनी फेलर से पीड़ित है। यही कारण है कि वह नियमित रूप से डायलिसिस कराने सैन्य अस्पताल जाता है। पाकिस्तानी सेना के मुख्यालय की छावनी क्षेत्र में स्थित इस अस्पताल में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हैं। बता दें कि सोमवार को सैन्य अस्पताल में एक धमाका हुआ था। इसके बाद एक मानवाधिकार कार्यकर्ता और पश्तून तहफूज आंदोलन के कार्यकर्ता ने ट्विटर पर इस बारे में पोस्ट किया कि 'अस्पताल में जबरदस्त धमाका हुआ और 10 लोग जख्मी हुए हैं। जैश के सरगना मसूद अजहर भी यहां भर्ती है।' ट्विटर यूजर ने आगे लिखा कि सेना ने मीडिया को इससे दूर रखा है। इसके साथ ही उन्हें सख्त हिदायत भी दिए हैं कि इस घटना को कवर नहीं किया जाए।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ...