पाकिस्तान: कोरोना महामारी की चौथी लहर के संकेत, मंत्री ने कहा- नियमों की हो रही है अनदेखी

|

Published: 11 Jul 2021, 12:00 AM IST

रिपोर्ट के अनुसार चेतावनी दी गई है कि नियमों की अनदेखी होने पर सरकार को शादी घर, इनडोर रेस्तरां और जिम बंद करने को मजबूर होना पड़ सकता है।

लाहौर। पाकिस्तान के योजना मंत्री असद उमर (Asad Umar) ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना नियमों का ठीक से पालन न होने के कारण महामारी की चौथी लहर के स्पष्ट संकेत मिलने लगे हैं। मंत्री ने मानक संचालन प्रक्रियाओं (SOP) के पालन की अपील की है।

कोरोना वायरस से निपटने के लिए राष्ट्रीय कमान ए‍वं संचालन केंद्र (NCOC) के प्रमुख उमर ने कहा कि जमीनी रिपोर्ट में सामने आया है कि कोरोना के मानक नियामों की अनदेखी की जा रही है।

ये भी पढ़ें: साइबर हमले से परेशान ईरान सरकार, परिवहन और शहरीकरण मंत्रालय की वेबसाइट ठप

रिपोर्ट के अनुसार चेतावनी दी गई है कि नियमों की अनदेखी होने पर सरकार को शादी घर, इनडोर रेस्तरां और जिम बंद करने को मजबूर होना पड़ सकता है। असद उमर ने ट्वीट कर कहा कि दो हफ्ते पहले, उन्होंने आगाह किया था कि हमारे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मॉडल चौथी लहर के संभावित खतरे का संकेत दे रहे हैं।

लोगों की लापरवाही चौथी लहर का कारण

उन्होंने पाकिस्तान में चौथी लहर के कारणों को लेकर एसओपी अनुपालन में लोगों द्वारा की जा रही लापरवाही और डेल्टा सहित कोरोना वायरस के स्वरूपों के प्रसार का हवाला दिया। एनसीओसी पहले ही पाकिस्तान में कोरोना वायरस के कई रूपों की मौजूदगी की पुष्टि कर चुका है। इसमें डेल्टा स्वरूप, दक्षिण अफ्रीका में पाया गया बीटा स्वरूप और ब्रिटेन में मिला अल्फा स्वरूप शामिल है।

 

कोरोना वायरस के आंकड़ों पर नजर डालें तो पाकिस्तान में बीते 24 घंटों में महामारी के 1,737 नए मामले सामने आए। इससे पहले चार जून को सबसे अधिक 1,923 मामले सामने आए थे। एक दिन पहले पाक के पीएम इमरान खान ने जनता से वायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकार के अनिवार्य कोविड-19 SOP का सख्ती से पालन करने की अपील की थी। उन्होंने देशवासियों को डेल्ट वेरिएंट के खतरों को लेकर चेतावनी दी थी।

ये भी पढ़ें: कल्पना और सुनीता के बाद भारतीय मूल की तीसरी महिला सिरिषा बांडाला अंतरिक्ष में जाने को तैयार

पॉजिटिविटी रेट तीन फीसदी

इमरान खान के अनुसार अफगानिस्तान जैसे देशों के मौजूदा हालात को देखते हुए हमारे देश को सजग हो जाना चाहिए। यहां पर ऑक्सीजन का भारी संकट मंडरा रहा है। देश में लगातार तीन दिनों तक पॉजिटिविटी रेट 3 फीसदी से अधिक बना हुआ है। ऐसे में चौथी लहर की संभावना बनी हुई है।