टेबल टेनिस : डब्ल्यूटीटी के फाइनल में भारत की दिव्या-स्वास्तिका की जोड़ी को मिली हार

|

Published: 01 Jun 2021, 04:21 PM IST

दिव्या और स्वास्तिका की जोड़ी को लड़कियों के अंडर-19 युगल वर्ग के फाइनल में 3-11, 6-11, 7-11 से हार का सामना करना पड़ा।

भारत की दिव्या चिताले और स्वास्तिका घोष की जोड़ी को यहां हुए डब्ल्यूटीटी यूथ स्टार कंटेंडर टेबल टेनिस टूर्नामेंट में युगल वर्ग के फाइनल में रूस की नतालिया मालिनिना और एलिजाबेत एब्रामिएन से 0-3 से हार का सामना करना पड़ा। दिव्या और स्वास्तिका की जोड़ी को लड़कियों के अंडर-19 युगल वर्ग के फाइनल में 3-11, 6-11, 7-11 से हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले, दिव्या और स्वास्तिका की जोड़ी ने सेमीफाइनल मुकाबले में चेक गणराज्य की लिंडा जादेरोवा और क्रोएशिया की हाना अरापोविक को 8-11, 11-7, 11-6, 6-11, 11-9 से हराकर फाइनल में जगह बनाई थी।

एकल वर्ग के सेमीफाइनल में भी हारी
युगल में उपविजेता रहने के अलावा दिव्या और स्वास्तिका को एकल वर्ग के सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा। यूथ नेशनल चैंपियन दिव्या को रूस की वलादा वोरोनिना ने 8-11, 11-7, 11-6, 8-11, 7-11 से हराया जबकि स्वास्तिका को तुर्की की एचे हाराक के हाथों 11-8, 4-11, 11-9, 3-11, 6-11 से पराजय झेलनी पड़ी। दिव्या और स्वास्तिका के अलावा लड़कों के वर्ग में प्रेयेश राज सुरेश, पायस जैन और दीपित पाटिल ने हिस्सा लिया था।

यह भी पढ़ें— टेनिस स्टार नाओमी ओसाका ने कमाई में बनाया रिकॉर्ड, 12 महीने में कमाए 4 अरब रुपए

ग्रुप चरण में बाहर हो गए थे पायस और दीपित
प्रेयेश अंडर-15 वर्ग के क्वार्टर फाइनल में हारे जबकि पायस और दीपित जो अंडर-19 वर्ग में हिस्सा ले रहे थे वे क्रमश: अंतिम-16 और ग्रुप चरण में बाहर हो गए थे। कोरोना वायरस के बाद यह पहला अंतरराष्ट्रीय यूथ इवेंट था जिसमें भारतीय खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया।

यह भी पढ़ें— बेलग्रेड ओपन: जोकोविच ने मोलकान को हराकर जीता कॅरियर का 83वां खिताब

फादवा गार्सी और मारम जोघलामी को हराकर पहुंची थी सेमीफाइनल में
वहीं क्वार्टर फाइनल मुकाबले में दिव्या और स्वातिस्का की जोड़ी का मुकाबला स्थानीय खिलाड़ी फादवा गार्सी और मारम जोघलामी की जोड़ी से हुआ। इस मुकाबले में दिव्या और स्वातिस्का की जोड़ी ने 11-5, 6-11, 11-9, 11-8 से जीतकर सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की थी। सेमीफाइनल में दिव्या और स्वातिस्का की जोड़ी का सामना चेक गणराज्य की लिंडा जोदेरोवा और क्रोएशिया से हुआ।