ओलंपिक में पदक जीतना आसान नहीं होगा : सिंधु

|

Published: 03 Jun 2021, 08:26 PM IST

पीवी सिंधु ने कहा है कि आगामी टोक्यो ओलंपिक में मुकाबला आसान नहीं होगा क्योंकि महिला एकल स्पर्धा में सभी शीर्ष 10 खिलाड़ी एकसमान हैं और कोई भी अपने प्रदर्शन से चौंकाने में सक्षम हैं।

 

नई दिल्ली। रियो ओलंपिक की रजत पदक विजेता भारतीय महिला बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु (pv sindhu) ने कहा है कि आगामी टोक्यो ओलंपिक (tokyo olympic) में मुकाबला आसान नहीं होगा क्योंकि महिला एकल स्पर्धा में सभी शीर्ष 10 खिलाड़ी एकसमान हैं और कोई भी अपने प्रदर्शन से चौंकाने में सक्षम हैं।

यह भी पढ़ें— क्रिकेट के कौन से नियम में लिखा है कि 30 की उम्र के बाद टीम में चयन नहीं हो सकता: शेल्डन जैक्सन

सिंधु ने गुरुवार कहा, 'मैं टोक्यो ओलंपिक के दौरान किसी भी तरह के आश्चर्य के लिए तैयार हूं। पोडियम फिनिश हासिल करना आसान नहीं होगा क्योंकि महिला एकल स्पर्धा में सभी प्रमुख खिलाड़ी समान क्षमता की हैं।’ सिंधु एकमात्र महिला बैडमिंटन खिलाड़ी हैं, जिन्होंने टोक्यो ओलंपिक के लिए महिला एकल वर्ग के लिए क्वालीफाई किया है। उन्होंने कहा कि महामारी के कारण टूर्नामेंट रद्द होने के बाद खाली समय ने उन्हें नए कौशल और तकनीक सीखने का अवसर प्रदान किया है।

उन्होंने कहा, ‘मैं ध्यान केंद्रित कर रही हूं और सारी मेहनत मुझे जापान में अपने विरोधियों से निपटने में सक्षम बनाएगी।’ हैदराबाद की बैडमिंंटन खिलाड़ी ने कहा कि जापान में होने वाले ओलंपिक खेलों में स्थानीय खिलाड़ियों का इसका फायदा नहीं मिलेगा क्योंकि ओलंपिक का दबाव बाकी वैश्विक टूर्नामेंटों से अलग होता है।

यह भी पढ़ें— क्रिकेटर वेंकटेश प्रसाद ने गाई श्रीराम स्तुति, वीडियो देखकर लोगों ने की तारीफ

सिंधु ने कहा, ‘जब ओलंपिक की बात आती है तो मुझे नहीं लगता है कि मेजबान टीम को इसका फायदा मिलता होगा। सभी शीर्ष खिलाड़ियों के खेलने की शैली अलग-अलग होती है और इससे स्थिति अप्रत्याशित हो जाती है। किसी खास दिन, कोई भी आश्चर्यचकित कर सकता है।’