French Open: मैच फिक्सिंग के आरोप में एक खिलाड़ी गिरफ्तार, पिछले साल से चल रही थी जांच

|

Updated: 04 Jun 2021, 08:51 PM IST

पेरिस में खेले जा रहे फ्रेंच ओपन ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट में एक खिलाड़ी को 2020 में खेल में रिश्वत लेने और संगठित धोखााधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।


 

नई दिल्ली। पेरिस में खेले जा रहे फ्रेंच ओपन ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट में एक खिलाड़ी को कथित रूप से मैच फिक्सिंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। हालांकि मैच फिक्सिंग का यह मामला पिछले साल का है।

यह भी पढ़ें—VIDEO: 6 साल का यह बच्चा लगाता है महेंद्र सिंह धोनी की तरह हेलीकॉप्टर शॉट

2020 में सामने आया था रिश्वत लेने का मामला
फ्रांस एक अखबार के अनुसार, यह खिलाड़ी 765वीं रैंकिंग पर काबिज रूस की याना सिजिकोवा है। अभियोजक के कार्यालय ने असोसिएटेड प्रेस को बताया कि एक अंतरराष्ट्रीय महिला खिलाड़ी हिरासत में थी, लेकिन उसके नाम का खुलासा नहीं किया। इस खिलाड़ी को सितंबर, 2020 में खेल में रिश्वत लेने और संगठित धोखााधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

अक्टूबर में शुरू की गई थी जांच
फ्रांस पुलिस की सट्टेबाजी धोखाधड़ी और मैच फिक्सिंग में विशेषज्ञता इकाई ने पिछले साल अक्टूबर में जांच शुरू की थी। कार्यलय ने कहा कि यह जांच रोलां गैरां (फ्रेंच ओपन) में पिछले साल एक मैच में संदेह पर केंद्रित है। हालांकि उसने इस मैच की जानकारी नहीं दी। हालांकि, 30 सितंबर को महिला युगल के पहले दौर के मैच में सट्टेबाजी पैटर्न का संदेह हुआ था।

यह भी पढ़ें— क्रिकेट के कौन से नियम में लिखा है कि 30 की उम्र के बाद टीम में चयन नहीं हो सकता: शेल्डन जैक्सन

कोरोना के चलते देर से हुआ था फ्रेंच ओपन
रिपोर्ट्स की मानें तो उस दिन सिजिकोवा और उनकी जोड़ीदार अमरीका की मैडिसन ब्रेंगले रोमानिया की एंड्रिया मीटू और पैट्रिसिया मारिया टिग के बीच मैच था। गौरतलब है कि पिछले साल फ्रेंच ओपन कोरोना वायरस महामारी के चलते देरी से सितंबर और अक्टूबर में खेला गया था।