भारतीय पहलवान सुमित मलिक डोपिंग टेस्ट में फेल, ओलंपिक में शामिल होने पर संशय

|

Published: 04 Jun 2021, 06:11 PM IST

नियम के अनुसार, मलिक के यूरिन सैंपल को ए और बी में बांटा गया है। उनका ए सैंपल टेस्ट पॉजिटिव आया है, जबकि बी सैंपल का टेस्ट विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) के लैब में ही होगा।

ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके फ्रीस्टाइल पहलवान सुमित मलिक (पुरुष 125 किग्रा) युनाइेड वर्ल्ड रेसलिंग द्वारा 6-9 मई तक बुल्गारिया के शहर सोफिया में आयोजित ओलंपिक क्वालीफायर के दौरान लिए गए डोप टेस्ट में नाकाम हो गए हैं । इस वजह से उनके ओलंपिक में शामिल होने को लेकर संशय पैदा हो गया है। दिल्ली के पहलवान सुमित ने सोफिया में ही 125 किग्रा फ्रीस्टाइल इवेंट के लिए ओलंपिक का टिकट हासिल किया था। वहीं रिपोर्ट के अनुसार, मलिक भले ही डोप टेस्ट में फेल हुए हैं लेकिन उन्हें टूर्नामेंटों से प्रारंभिक रूप से निलंबित नहीं किया जाएगा। हालांकि मामला बढने पर टोक्यो ओलंपिक में उनके शामिल होने पर प्रभाव पड़ सकता है।

ए सैंपल टेस्ट पॉजिटिव आया
नियम के अनुसार, मलिक के यूरिन सैंपल को ए और बी में बांटा गया है। उनका ए सैंपल टेस्ट पॉजिटिव आया है, जबकि बी सैंपल का टेस्ट विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) के लैब में ही होगा। सेमीफाइनल में भारतीय पहलवान ने वेनेजुएला के पहलवान जोस डेनियल डियाज को 5-0 से हराते हुए रूस के सर्गेई कोजीरेव के खिलाफ फाइनल खेलने का हक हासिल किया था। वह हालांकि चोट के कारण फाइनल से हट गए थे। मलिक ने रजत पदक जीता था।

यह भी पढ़ें— उलझन में भारतीय घुड़सवार फवाद मिर्जा, ओलंपिक में कौन सा घोड़ा लेकर जाएं

नहीं मिलेगा मासिक भत्ता
सोफिया में हर वर्ग से फाइनल में पहुंचने वाले पहलवानों को ओलंपिक का टिकट मिला था। ओलंपिक का आयोजन इस साल 23 जुलाई से टोक्यो में होना है। मलिक चौथे भारतीय फ्रीस्टाइल पहलवान है जिन्होंने पुरुष वर्ग में ओलंपिक कोटा हासिल किया है। उनसे पहले रवि दहिया (57 किग्रा), बजरंग पुनिया (65 किग्रा) और दीपक पुनिया (86 किग्रा) ने भी ओलंपिक टिकट जीता है। टोक्यो ओलंपिक में अब महज 49 दिन शेष रह गए हैं और ऐसे में मलिक के डोप टेस्ट में फेल होने से भारतीय कुश्ती टीम की भावना पर असर पड़ेगा। इस बीच कोच ने कहा, 'चूंकि मलिक डोप टेस्ट में फेल हुए हैं, इसलिए उन्हें अब 50,000 रूपये मासिक पॉकेट भत्ता नहीं मिलेगा।' बीते महीने मलिक को खेल मंत्रालय के टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम (टॉप्स) के कोर ग्रुप में शामिल किया गया था।