Latest News in Hindi

भारत के पूर्व हॉकी कप्तान सरदार सिंह ने लिया संन्यास, फिटनेस में कोहली से भी आगे थे

By Prabhanshu Ranjan

Sep, 12 2018 06:10:52 (IST)

भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान सरदार सिंह ने आज संन्यास का ऐलान कर दिया है। सरदार पिछले 12 साल से भारतीय हॉकी के प्रमुख स्तम्भ रहे है।

नई दिल्ली। भारत के पूर्व हॉकी कप्तान सरदान सिंह ने इंटरनेशनल हॉकी को अलविदा कह दिया हैं। लंबे समय तक भारतीय हॉकी टीम में मुख्य खिलाड़ी रहे सरदार सिंह पिछले काफी समय से लय में नहीं थे। एशियन गेम्स 2018 में भी उनका प्रदर्शन फीका रहा था। इसके बाद आज सरदार सिंह ने अपने रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है। सरदार सिंह ने समाचार एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए बताया कि अब समय आ गया है कि युवाओं को मौका दिया जाए।

संन्यास का ऐलान करते बोले सरदार-
अपने रिटायरमेंट का ऐलान करते हुए सरदार सिंह ने कहा कि हां, मैंने संन्यास लेने का तय कर लिया है। अपने करियर में मैं लंबे समय तक हॉकी खेलता रहा। करीब 12 साल तक मैंने हॉकी खेली। अब समय आ गया है कि नई पीढ़ी को यह मौका दिया जाए। अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए सरदार सिंह ने यह ही कहा कि मैंने संन्यास लेने के फैसले पर परिवार, हॉकी इंडिया और अपने दोस्तों से बात की। मेरे समझ से यह सही समय है जब हॉकी के बाहर के जीवन के बारे में सोचा जाए।

सरदार सिंह का करियर ग्राफ-
भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान सरदार सिंह का जन्म 15 जुलाई 1986 को हरियाणा के रनिया में हुआ था। साल 2008 में उन्हें सुल्तान अजलान शाह हॉकी टूर्नामेंट के लिए भारतीय हॉकी टीम का कप्तान बनाय गया। वो उस समय मात्र 22 साल के थे। हॉकी के मैदान पर वह सेंटर हाफ में खेलते है। सरदार सिंह ओलम्पिक में दो बार भारतीय टीम में रहे है। सरदार को पद्म्मश्री पुरस्कार भी मिल चुका है। वो हरियाणा पुलिस में वह डिप्टी सुपरिन्टेन्डेन्ट पुलिस अधिकारी हैं।

फिटनेस में कोहली को मात देते थे सरदार-
सरदार सिंह का नाम उन भारतीय खिलाड़ियों में शुमार है, जो काफी फिट है। हाल ही में सरदार सिंह ने यो-यो टेस्ट में भारतीय क्रिकेटरों से ज्यादा स्कोर करते हुए सबको चौंका दिया था। यो-यो टेस्ट में सरदार ने 21.4 अंक हासिल किया था। बताते चले कि भारतीय क्रिकेट टीम में सबसे अच्छा यो-यो स्कोर पाने वाले क्रिकेटर मनीष पांडे हैं। पांडे ने 17.4 का स्कोर था। जबकि कोहली समेत अन्य भारतीय क्रिकेटर उनसे पीछे ही थे।

Related Stories