सामयिक : 'पुतिन्स पीपुल' पर लंबी कानूनी लड़ाई के लिए तैयार पक्षकार

|

Published: 02 Aug 2021, 10:33 AM IST

'पुतिन्स पीपुल: हाउ द केजीबी टुक बैक रशिया एंड दैन टुक ऑन द वेस्ट' किताब की लेखिका कैथरीन बेल्टन और किताब के प्रकाशक हार्पर कॉलिन्स के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है ।
किताब के जिन अंशों पर विवाद है, उनका अर्थ तय निर्धारित किए जाने संबंधी फैसला सितम्बर में आने की उम्मीद है।

चेल्सी फुटबॉल क्लब लिमिटेड के अरबपति मालिक रोमन अब्रामोविच को रूसी राष्ट्रपति व्लामिदिर पुतिन ने टीम को खरीदने का निर्देश दिया था ताकि वह ब्रिटेन के राजनीतिक गलियारों में पहुंच बना सकें। इस प्रकार के दावे करना पूरी तरह अपमानजनक है। यह कहना है अब्रामोविच के वकील का। दरअसल, अब्रामोविच ने 'पुतिन्स पीपुल: हाउ द केजीबी टुक बैक रशिया एंड दैन टुक ऑन द वेस्ट' किताब की लेखिका कैथरीन बेल्टन और किताब के प्रकाशक हार्पर कॉलिन्स के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है। 19 बिलियन डॉलर की सम्पत्ति के मालिक रूसी अरबपति अब्रामोविच ने 2003 में चेल्सी एफ.सी. को खरीदा और सैकड़ों नहीं कम से कम दसियों मिलियन डॉलर खर्च कर टीम के लिए शीर्ष खिलाड़ी खरीदे जो यूके-यूरोप में चैंपियनशिप जीत सकें।

अब्रामोविच के वकील ह्यू टॉमलिन्सन ने लंदन में मामले की सुनवाई के दौरान कहा कि लेखिका बेल्टन ने अपनी किताब में अब्रामोविच पर आरोप लगाया है कि उन्होंने गोपनीय रूप से पुतिन के कहने पर चेल्सी एफ.सी. को खरीदा ताकि वे ब्रिटेन के राजनीतिक गलियारों में घुस कर वहां भ्रष्टाचार फैला सकें। लेखिका ने अब्रामोविच को किताब में 'पुतिन का कैशियर' और 'क्रेमलिन का विश्वासपात्र' बताया है। वकील ने दलील दी कि 'अब्रामोविच ने इस दावे को हल्के में नहीं लिया है।' किताब में 'सुप्त गलतियां बार-बार दोहराई गई हैं' और 'अब्रामोविच इतना ही चाहते हैं कि बातें सही रूप में सबके सामने लाई जाएं।'

टॉमलिन्सन ने कहा कि साफ तौर पर खेलों के लिए फुटबॉल क्लब खरीदने वाले को किताब में इस प्रकार पेश किया गया है जैसे किसी को गोपनीय रूप से रूसी सरकार का प्रभाव बढ़ाने के निर्देश दिए गए हों। बेल्टन और हार्पर कॉलिन्स के खिलाफ रूस की सरकारी ऊर्जा कम्पनी रोजनेफ्ट ऑइल कॉर्पोरेशन ने भी मुकदमा किया है। टॉमलिन्सन ने अदालत में कहा कि कुलीन मिखाइल फ्रिडमैन और व्यवसायी पीटर एवेन ने भी ऐसे ही दावों के खिलाफ मुकदमे दायर किए थे। टॉमलिन्सन ने इस बात से इनकार किया कि अब्रामोविच मामले और अन्य व्यवसायियों के मामलों में कोई समन्वय है।

लेखिका और प्रकाशक के वकील ने अदालत में कहा कि किताब में किए गए दावे, कि 'अब्रामोविच ने यह क्लब ब्रिटेन के कुलीन वर्ग में घुसपैठ करने, अपने हित साधने के लिए गड़बड़ी करने और भ्रष्टाचार फैलाने के लिए खरीदा' से आशय 'ब्रिटेन के शीर्ष राजनेताओं से अनुचित या अवैध काम करवाने के लिए उन्हें रिश्वत देना' नहीं है। वकीलों ने यह भी कहा - लेखिका ने लिखा है कि अब्रामोविच 'संभवत: क्रेमलिन के आदेशों पर काम कर रहे हों।' अदालत 'संभवत: कर रहे हों' और 'कर रहे थे' के अंतर की अनदेखी नहीं कर सकती। मामले में मुख्य पक्षकारों में से कोई भी पीछे हटने को तैयार नजर नहीं आ रहा है।

(स्रोत: ब्लूमबर्ग, न्यूज रिपोट्र्स)