नोएडा बिल्डिंग हादसा: रिटायर्ड फौजी है फैक्ट्री मालिक, दो मजूदरों की मौत होने पर पुलिस ने गिरफ्तार किया

|

Updated: 02 Aug 2020, 12:19 PM IST

Highlights

-सेक्टर-11 में गिर गई थी तीन मंजिला इमारत

-ठेकेदार और मजूदर की मलबे में दबकर हुई थी मौत

-सीएम योगी ने मामले में लिया था संज्ञान

नोएडा। थाना सेक्टर-24 की पुलिस ने सेक्टर-11 में निर्माणाधीन भवन के गिरने के मामले में भवन मालिक आरके भारद्वाज को गिरफ्तार कर लिया। दरअसल, शुक्रवार की रात निर्माणाधीन इमारत के गिरने से उसमें दबकर दो मजदूरों की मौत हो गई थी। जबकि दो सेे तीन लोग गंभीर रूप से जख्मी हुए थे।

यह भी पढ़ें: इस गांव में नहीं मनाया जाता रक्षाबंधन का त्यौहार, मोहम्मद गोरी से जुड़ा है किस्सा

जानकारी के अनुसार सेना से रिटायर और क्रांतिकारी मनुवादी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरके भारद्वाज की सेक्टर-11 के एफ-62 में शक्ति टेक्नोफेब प्रोडक्ट के नाम से इलेक्ट्किल पैनल बनाने की इकाई है। फैक्ट्री में सोलर पैनल बनाने का काम किया जा रहा था। कोविड-19 के चलते शुक्रवार को आधे से भी कम कर्मचारी काम पर थे। शाम पांच बजे की शिफ्ट समाप्त कर वे घर चले गए। शाम करीब सात बजे इमारत का एक हिस्सा गिर गया। जिस समय यह घटना हुई, उस समय वहां पांच लोग काम कर रहे थे। उसमें चार लोग दब गए।

यह भी पढें: मेरठ में पुलिस फोर्स के साथ पीएसी ने संभाला मोर्चा, 15 सेक्टर और 5 जोन में बंटा जिला

सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने श्रमिकों को मलबे से निकाला और अस्पताल में दाखिल कराया। वहां दो मजदूरों की मौत हो गई। जबकि गंभीर रूप से घायल दो मजदूर अभी अस्पताल में भर्ती हैं। मरने वालों की पहचान ठेकेदार जैनेंद्र और मजदूर गोपी के रूप में हुई है। दोनों कानपुर देहात के निवासी और आपस में रिश्तेदार थे। घायलों में लोनी निवासी सागर और बागपत के छपरौली निवासी राहुल शामिल हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर डीएम सुहास एलवाई ने हादसे के कारणों की जांच के लिए सिटी मजिस्ट्रेट और नोएडा प्राधिकरण के अफसरों की टीम बनाई है। जिलाधिकारी ने पूरे मामले की जानकारी शासन को दी है।