Latest News in Hindi

गणेश चतुर्थी २०१८ पर गणपति बप्पा के इन मंत्रों का जाप करने से आप पर बरसेगी विशेष कृपा

By Rahul Chauhan

Sep, 12 2018 09:05:42 (IST)

Ganesh Chaturthi पर गणपति के मंत्रों का जाप करने से भगवान गणेश की आप पर विशेष कृपा बरसेगी। गणेश प्रतिमा स्थापना के वक़्त मंत्रो का जाप करने से सुख समृद्धि की प्राप्ति होगी |

 

 

नोएडा। गणेश चतुर्थी भारत का एक मुख्य त्योहार है। इस बार यह 13 सितम्बर से शुरू होगा। इस दिन गुरुवार को Ganesh Chaturthi Puja की शुरुआत होगी। इस बार गणपति की स्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 11 बजकर 08 से दोपहर 1 बजकर 34 मिनट तक रहेगा। यह जानकारी नोएडा लाल मंदिर के पुजारी विनोद कुमार शास्त्री ने दी। उन्होंने कहा कि भक्त इसी मुहूर्त के बीच गणेश प्रतिमा की स्थापना करेंगे तो अधिक पुन्य लाभ होगा, साथ ही उन्होंने कहा कि अगर आप चाहते हैं कि आपके घर में हमेशा सुख-समृद्धि बनी रहे तो शुभ-लाभ की भी पूजा करें। साथ ही नीचे बताए गए 5 मंत्रों का जाप करने से भगवान गणेश की आप पर विशेष कृपा बरसेगी।

श्री गणेश मंत्र:
ॐ गं गणपतये नम:

ऋद्धि मंत्र:

ॐ हेमवर्णायै ऋद्धये नम:

सिद्धि मंत्र:
ॐ सर्वज्ञानभूषितायै नम:

लाभ मंत्र:
ॐ सौभाग्य प्रदाय धन-धान्ययुक्ताय लाभाय नम:

शुभ मंत्र:
ॐ पूर्णाय पूर्णमदाय शुभाय नम:

इसके अलावा इस बात का ध्यान रखें कि जितने दिन भगवान गणेश घर में हैं उन्हें 3 समय भोग जरूर लगाएं और मोदक भी चढ़ाएं।

ये मंत्र भी हैं लाभकारी

1. गणेश गायत्री मंत्र

अगर आपको लगे कि अकारण ही बार-बार आपके जीवन में बाधाएं आ रही हैं। एक के बाद एक मुश्किलें खत्म नहीं हो रही हैं तो प्रतिदिन 108 बार ‘गायत्री गणेश मंत्र’ का जाप करें। मंत्र इस प्रकार है।

ॐ एकदन्ताय विद्महे वक्रतुंडाय धीमहि तन्नो बुदि्ध प्रचोदयात।।

2. गणेश तांत्रिक मंत्र

मनोवांछित फलों की प्राप्ति हेतु प्रतिदिन इस मंत्र का जाप करना चाहिए। हालांकि इसके पूर्ण लाभ के लिए विशेष पूजा के बाद 108 बार इसका जाप करना फलदायी होता है। मंत्र इस प्रकार है।

ॐ ग्लौम गौरी पुत्र, वक्रतुंड, गणपति गुरू गणेश।

ग्लौम गणपति, ऋदि्ध पति, सिदि्ध पति।

मेरे कर दूर क्लेश।

3. गणेश कुबेर मंत्र

अगर आप कर्ज के बोझ तले लगातार दबते जा रहे हैं, चाहकर भी उसे चुका नहीं पा रहे हैं तो प्रतिदिन प्रात:काल में गणपति की पूजा करने के बाद ‘गणेश कुबेर मंत्र’ का 108 बार जाप करें। मंत्र इस प्रकार है:

ॐ नमो गणपतये कुबेर येकद्रिको फट् स्वाहा।