Latest News in Hindi

BIG BREAKING: गिरफ्तारी के बाद यूएसए जा रहे देवकी नंदन ठाकुर इस तारिख को वापस लौटेंगे भारत

By Rahul Chauhan

Sep, 12 2018 01:59:01 (IST)

देशभर में SC-ST Act का विरोध हो रहा है। वहीं इसके खिलाफ लगातार आवाज उठा रहे देवकी नंदन ठाकुर को मंगलवार को आगरा में गिरफ्तार कर लिया गया था।

नोएडा। देशभर में SC-ST Act का विरोध हो रहा है। वहीं इसके खिलाफ लगातार आवाज उठा रहे देवकी नंदन ठाकुर को मंगलवार को आगरा में गिरफ्तार कर लिया गया था। हालांकि कुछ घंटों बाद ही उन्हें छोड़ भी दिया गया। लेकिन इसके बाद से ही सवर्ण समाज में रोष है। वहीं इनके भक्त भी लगातार सोशल मीडिया पर सरकार व यूपी पुलिस पर सवाल उठा रहे हैं। इसी बीच यह भी खबरें आईं कि देवकी नंदन यूएसए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें : देवकी नंदन ठाकुर को छोड़ना ही था देश, पहले से फिक्स था ये प्रोग्राम

जिसके बाद सबसे अधिक यही सवाल उठ रहा है कि आखिर वह वापस कब लौटेंगे। दरअसल, इनकी ट्रस्ट की ऑफिशियल वेबसाइट ‘विश्व शांति सेवा चैरिटेबल ट्रस्ट’ पर बताया गया है कि 14 सितंबर से 20 सितंबर 2018 तक यूएसए के न्यू जर्सी के दुर्गा मंदिर में उनका श्रीमदभागवत कथा का कार्यक्रम है। इसी के चलते वह यूएसए जा रहे हैं। इसके बाद विदेश में ही उनके कई और कार्यक्रम हैं जिनके चलते वह 25 अक्टूबर तक वहीं रहेंगे। बताया जा रहा है कि देवकी नंदन ठाकुर अक्टूबर माह के अंत में या नवंबर माह की शुरुआत में वापस भारत लौटेंगे। अलगे वर्ष 2019 के जनवरी माह की 3 तारीख को श्रीमदभागवत कथा का कार्यक्रम है जो 9 जनवरी तक चलेगा।

यह भी पढ़ें : देवकी नंदन ठाकुर की गिरफ्तारी के बाद उठा राजनीतिक तूफान, भाजपा के खिलाफ हुआ महापंचायत का ऐलान

भाजपा सरकार पर संतों का अपमान करने का आरोप

इसी बीच मेरठ में सर्वसमाज के अभिषेक गहलौत ने भी भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में संतों का अपमान हो रहा है। वह भी ऐसे समय जबकि साधु यानी योगी आदित्यनाथ का राज हो। उनके राज में ही संतों का अपमान हो रहा है।

यह भी देखें : Devkinandan Thakur का जेल जाने से पहले का वीडियो | Viral Video

पीएम और सीएम को लिखा पत्र

गौरतलब है कि देशभर में एससी-एसटी एक्ट का विरोध जारी है। सवर्ण समाज के लोगों ने बैठक कर निर्णय लिया है कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजेंगे। इसमें सर्वसम्मति से लिखा गया है कि सरकार और भाजपा इस संबंध में जो भी निर्णय ले वे देश और समाज के हित में ले। इससे समाज में विघटन न पैदा हो सके। आज इस मुद्दे पर हिंदू समाज दो भागों में विभक्त हो चुका है। इसका नुकसान निश्चित ही भाजपा को उठाना पड़ेगा।