इंसाफ की गुहार लगाते हुए कलेक्ट्रेट के सामने आमरण अनशन पर बैठीं 70 साल की बुजुर्ग महिला

|

Published: 22 Sep 2021, 09:38 PM IST

बुजुर्ग महिला की पुश्तैनी जमीन पर दबंगों ने किया कब्जा...सीएम हेल्पलाइन से लेकर हर जगह कर चुकी है शिकायत..

नीमच. नीमच में कलेक्ट्रेट के सामने एक 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला अपने हक के लिए आमरण अनशन पर बैठ गई। बुजुर्ग महिला का नाम सगुन कुंवर है जो मनासा तहसील के जमुनिया रावजी गांव की रहने वाली है। बुजुर्ग महिला का आरोप है कि गांव के दबंग ने उनकी पुस्तैनी जमीन पर कब्जा कर लिया है। सारे कागजात होने के बावजूद भी उसकी जमीन उसे वापस नहीं दिलाई जा रही है। उनका ये भी आरोप है कि वो जिला प्रशासन से लेकर सीएम हेल्पलाइन तक मामले की शिकायत कर चुकी हैं लेकिन कहीं से भी उन्हें न्याय नहीं मिला जिसके कारण अब उन्हें आमरण अनशन पर बैठना पड़ा। बुजुर्ग महिला सगुन कुंवर का ये भी कहना है कि जब तक उन्हें न्याय नहीं मिल जाता तब तक वो आमरण अनशन पर बैठी रहेंगी और अगर उन्हें इस दौरान कुछ होता है तो इसका जिम्मेदार जिला प्रशासन होगा।

 

ये है पूरा मामला...
नीमच कलेक्ट्रेट कार्यालय के बाहर जिले की मनासा तहसील के गांव जमुनिया रावजी की रहने वाली गरीब वृद्ध महिला सगुन कुंवर पति गट्टू सिंह राजपूत आमरण अनशन पर बैठ गई हैं। दरअसल महिला की पुश्तैनी जमीन पर गांव के कुछ दबंगों के द्वारा कब्जा कर लिया गया है वृद्ध महिला गरीब और निराश्रित है। वृद्ध महिला द्वारा अपने जमीन पर हक पाने के लिए जनसुनवाई से लेकर तमाम जगह आवेदन दिए मगर महिला की किसी ने भी सुनवाई नहीं की उम्र के इस दौर में भी गरीब महिला को अपने हक के लिए लड़ना पड़ रहा है अकेली महिला बुधवार को नीमच कलेक्ट्रेट कार्यालय में आमरण अनशन पर बैठी है। बुजुर्ग सगुन कुंवर ने बकायदा अपनी समस्या को लिखकर बैनर पर प्रिंट करवाया है और उस बैनर को लगाकर आमरण अनशन कर रही हैं। उनका कहना है कि जब तक उनकी जमीन पर उन्हें कब्जा नहीं दिलाया जाता और दबंगों पर सख्त कार्रवाई नहीं की जाती तब तक वो आमरण अनशन पर बैठी रहेंगी। उन्होंने ये भी चेतावनी दी है कि अगर आमरण अनशन के दौरान उन्हें कुछ हो जाता है तो इसका जिम्मेदार प्रशासन होगा।

ये भी पढ़ें- दिन में फिजिक्स, रात में डर्टी टॉक, ऐसी थी कुंदन सर की क्लास