nagaur train:लीलण एक्सप्रेस का संचालन पूर्ववत ही रहने की उम्मीद जगी

|

Published: 25 Oct 2020, 11:15 PM IST

सांसद के पत्र पर रेल मंत्री ने दिया प्रत्युत्तर, बताया कि कार्रवाई के लिए निदेशालय को भेज दिया है पत्र

नागौर. बीकानेर से नागौर होकर गुजरने वाली लीलण एक्सप्रेस का रूट नागौर होते हुए यथावत रखे ाजाने की उम्मीद जग रही है। इस सम्बंध में सांसद हनुमान बेनीवाल ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखा था। मंत्री ने प्रत्युत्तर देते हुए बताया है कि कार्रवाई के लिए उनका पत्र निदेशालय को भेज दिया है।

सांसद के पत्र पर रेल मंत्री ने जवाब भेजा है। इसमें बताया है कि रेलवे विभाग के निदेशालय को पत्र लिखकर समुचित कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। उधर, सांसद ने रेलवे बोर्ड अध्यक्ष को वापस पत्र लिखकर लीलण एक्सप्रेस के रूट को नागौर से रखने की मांग रखी है। उन्होंने लोकसभा में भी यह मुददा रखा था और इस सम्बंध में कार्रवाई के लिए लोकसभा अध्यक्ष को भी पत्र लिख चुके हैं।

रूट बदलने से लोगों में रोष व्याप्त है
उधर, लीलण एक्सप्रेस का रूट बदलने का आदेश आने के बाद से ही स्थानीय लोगों में रोष व्याप्त है। सालों से नागौर होते हुए चल रही इस रेल का रूट बदलने से यहां के लोग प्रभावित होंगे। जयपुर के लिए सुगम व सस्ता आवागमन का साधन होने से यह रेल नागौर के बाशिंदों को काफी फायदा दे रही है। इसका रूट बदलना लोगों को मुश्किल में डाल सकता है।

पत्रिका ने लोगों की समस्या उजागर की थी
उल्लेखनीय है कि राजस्थान पत्रिका ने इस मुददे को उठाते हुए लोगों की समस्या उजागर की थी। सिलसिलेवार समाचार प्रकाशित किए गए। इसमें बताया कि लीलण का रूट बदलने से लोगों को कितनी समस्या हो सकती है। जयपुर से नागौर की सीधी कनेक्टिविटी भी पूरी तरह से कट सकती है। पत्रिका के मुद्दे पर सामाजिक संगठन भी आगे आए और रेलवे बोर्ड व मंत्रालय को लगातार ज्ञापन भेजे जा रहे हैं।