दवा के नाम पर नशा, बलात्कार के बाद ब्लैकमेलिंग

|

Updated: 17 Jun 2021, 11:47 PM IST

नागौर. संतान की चाह में एक महिला ने दूसरी विवाहिता को ऐसा झांसा दिया कि वो लाखों रुपए के साथ अपनी अस्मत भी गवां बैठी। आरोपी महिला अपने हकीम पति व एक अन्य के साथ अश्लील वीडियो के नाम पर उससे रकम ऐंठती रही। पीडि़ता ने महिला थाने में शरीरिक शोषण व ब्लैकमेलिंग का मामला दर्ज कराया।

विवाहिता ने दंपती व एक अन्य के खिलाफ दर्ज कराया मामला
पत्रिका न्यू•ा नेटवर्क

गुरुवार को पुलिस ने पीडि़ता के बयान दर्ज किए। पुलिस के अनुसार पीडि़ता ने रिपोर्ट में बताया कि करीब तीन साल पहले उसकी शादी हुई थी। दो बरस बाद भी संतान नहीं हुई तो वो अवसाद में आ गई। इस दौरान उससे रेयाना पत्नी रिजवान उर्फ टोपी की मुलाकात हुई। रेयाना ने एक हकीम के पास इसकी दवा होने का झांसा दिया और एक मकान में ले गई। वहां रेयाना का पति रिजवान व दूसरा उसका मित्र बरकत अली मौजूद थे। रेयाना ने पति को हकीम बताते हुए वहां छोड़ दिया। बाद में उसे एक पुडिय़ा में नशीली दवा दी, जिससे वो बेहोश हो गई। जब उसे होश आया तो बलात्कार होने का पता चला, वो डर के मारे घर चली गई। रेयाना ने फोन कर उसे धमकाया उसका अश्लील वीडियो बना लिया है। जिसे उसके पति व ससुराल वालो को वायरल कर दिया जाएगा। इसके बाद से उससे बार-बार रुपए मांगे गए। वो करीब एक लाख साठ हजार के साथ सोने के जेवरात भी दे चुकी। हकीम रिजवान ने इस दौरान धमकी देकर कई बार शारीरिक संबंध भी बनाए। आरोपी उसे धमका रहे हैं, उसका शारीरिक शोषण कर रहे हैं। उसने रिपोर्ट में बताया कि इससे तंग आकर वो आत्महत्या करने जा रही थी कि एक रिश्तेदार ने उसे रोका और समझाइश की तब जाकर रिपोर्ट लिखाने की हिम्मत कर पाई।
पीडि़ता का मेडिकल कराकर बयान दर्ज कर लिए हैं। आरोपियों की तलाश की जा रही है। उसके 164 के बयान समेत अन्य यथोचित कार्रवाई भी जल्द होगी।
विनोद कुमार सीपा,
सीओ नागौर शहर