संकरी गलियां और गड्ढों में गड्ड-मड्ड रास्ते

|

Published: 26 Oct 2020, 08:08 PM IST

शहर के भीतरी भागों में लोगों के लिए गुजरना मुश्किल हो रहा, महज कुछ फीट के रास्ता और उस पर भी सीवरेज के गड्ढे, घर के बाहर वाहन ले जाना भी दुश्कर, दूर छोड़कर आने की मजबूरी

नागौर. त्योहारी सीजन में भी लोग ठाकरें खाते हुए चलने को मजबूर हंै। हालांकि नगर परिषद ने कुछ जगहों पर मरम्मत कार्य करवाया भी है, लेकिन यह नाकाफी साबित हो रहा है। अधिकतर भाग में गड्ढे नहीं भरे गए है, जिससे चलना मुश्किल हो रहा है। शहर के भीतरी भाग में तो स्थिति इस कदर खराब है कि घर के बाहर तक वाहन ले जाना भी दुश्कर कार्य बना हुआ है। इन गलियों में रहने वाले कई लोग अपने दुपहिया वाहन को घर से दूर किसी चौक में पार्क करने को मजबूर है। संकरी गलियों में महज कुछ फीट के रास्ते पर आवाजाही करना पहले से ही मुश्किल था, वहीं बीचोंबीच गड्ढे हो जाने अब आवागमन ही रूक गया है। रात को घर से बाहर निकलना हो तो काफी संभलना पड़ता है, अन्यथा हादसे का शिकार होते भी देर नहीं लगती।

मिट्टी से पाट रहे गड्ढे
शहर में सीवरेज लाइन बिछाने का कार्य भी काफी धीमी गति से चल रहा है। कई जगहों पर खुदाई चल रही है। सीवरेज बिछाने के बाद भी गड्ढों को पाटने पर ध्यान नहीं दिया जा रहा। ठेकेदार के कार्मिक महज मिट्टी डाल कर चले जाते हैं। इससे रास्ते बदहाल हो गए है।

वृद्धों व बीमारों के बाहर आना मुश्किल
शहर के भीतरी भाग में लोगों को सुविधा देने के लिए सीमेंटेड ब्लॉक बिछाए गए थे, लेकिन देखभाल नहीं होने से ये रास्ते दुर्दशा का शिकार हो गए। इन दिनों अधिकतर जगहों से ब्लॉक उखड़ चुके हैं। गड्ढे होने से लोग चल नहीं पाते। बच्चों व वृद्धों के लिए तो स्थिति काफी गंभीर हो गई है। घर के बाहर तक वाहन आता नहीं और पैदल चल नहीं सकते। ऐसे में वृद्धों व बीमार लोगों को बाहर लाने- ले जाने में भारी समस्या झेलनी पड़ रही है।

मरम्मत करवा रहे हैं...
शहर में सड़क मरम्मत का काम शुरू कर दिया है। कई जगहों पर मरम्मत हो चुकी है। भीतरी भाग में भी जल्द ही मरम्मत कार्य करवाया जाएगा। उम्मीद है कि दीपावली से पहले पूरे शहर में सड़कों की मरम्मत हो जाएगी।
- रामप्रसाद मीणा, एक्सइएन, नगर परिषद, नागौर