29 दिन में 2015 पॉजिटिव, अब नागौर में भी एक महीने लगेगा रात्रि कर्फ्यू

|

Updated: 30 Nov 2020, 03:21 PM IST

नागौर जिले में धारा-144 के बावजूद कोरोना पॉजिटिव की दर 5.18 हुई

नागौर. जिले में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से पांव पसार रहा है। राज्य सरकार के निर्देश पर गत 20 नवम्बर को जिला कलक्टर द्वारा जिले में धारा-144 लगाने के बावजूद पिछले दस दिन में 600 से अधिक पॉजिटिव मरीज मिल चुके हैं। स्थिति यह है पिछले दस दिन से रोजाना 90 से अधिक संक्रमित हो रहे हैं। छह दिन पहले तो पॉजिटिव का आंकड़ा डेढ़ सौ पार कर गया था।

इस माह के 29 दिन में ही कोरोना पॉजिटिव की संख्या 2 हजार पार हो गई है, ऐसे हमें अब सतर्क हो जाना चाहिए, क्योंकि सर्दी अभी बाकी है और सर्दी में संक्रमण की दर बढ़ेगी। जयपुर-जोधपुर सहित प्रदेश के आठ शहरों में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा गत दिनों रात्रि कर्फ्यू लगाने के बाद रविवार रात को मुख्यमंत्री की अनुमति के बाद गृह विभाग ने नागौर सहित प्रदेश के पांच और जिलों में एक से 31 दिसम्बर तक रात्रि कर्फ्यू लगाने की घोषणा कर दी है।

लाख प्रयास के बावजूद शादी समारोह एवं अन्य सामाजिक व राजनीतिक कार्यक्रमों में लोगों की भीड़ एकत्र हो रही है, जहां न तो सोशल डिस्टेंस की पालना हो रही है और न लोग ही मास्क लगाकर पहुंच रहे हैं।
गौरतलब है कि जिले में 29 नवम्बर तक एक लाख 67 हजार 596 सैम्पल लिए जा चुके हैं, जिनमें से करीब ढाई हजार की जांच बाकी है। अब तक जिले में 8657 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं और सरकारी रिकॉर्ड के अनुसार 75 लोगों की मौत कोरोना महामारी से हो चुकी है, हालांकि वास्तविक आंकड़ों में मौतों की संख्या अधिक है।

जिले में लगातार बढ़ रही है कोरोना पॉजिटिव की दर
माह - कुल सैम्पल - पॉजिटिव - डिस्चार्ज - मौत
मार्च - 19 - 0 - 0 - 0 - 0
अप्रेल - 2770 - 117 - 45 - 2
मई - 12020 - 339 - 225 - 5
जून - 8733 - 180 - 357 - 5
जुलाई - 19007 - 824 - 576 - 16
अगस्त - 33036 - 1252 - 991 - 15
सितम्बर - 32881 - 2057 - 1729 - 17
अक्टूबर - 30080 - 1873 - 1752 - 21
नवम्बर - 29995 - 2015 - 2030 - 19

गत माह कम हुई थी पॉजिटिव दर
जिले में कोरोना वायरस का संक्रमण कुछ कम हुआ था। जिले में 31 अक्टूबर तक 6 हजार 642 कोरोना पॉजिटिव हुए थे। सितम्बर में 2057 पॉजिटिव होने के बाद अकेले अक्टूबर माह में पॉजिटिव की संख्या 1873 रही थी। अगस्त माह में पॉजिटिव की दर जहां 3.79 प्रतिशत थी, वहीं सितम्बर में बढकऱ 6.66 प्रतिशत हो गई। अक्टूबर में इसमें हल्की गिरावट आई और पॉजिटिव की दर 6.22 प्रतिशत रही। अक्टूबर में पॉजिटिव दर 4.79 प्रतिशत रही, जो अब (नवम्बर में) फिर बढकऱ 6.71 प्रतिशत हो गई है।

जनसहयोग से कम होगा संक्रमण
सरकार के निर्देशानुसार जिला प्रशासन, चिकित्सा विभाग व पुलिस प्रशासन कोरोना संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए एक ओर जहां हर संभव प्रयास कर रहे हैं, वहीं सख्ती भी बरत रहे हैं। लोगों में जागरुकता फैलाने के लिए रोज अधिकारी बाजार, चौराहों एवं सार्वजनिक स्थिानों पर जाकर समझाइश कर रहे हैं, मास्क पहना रहे हैं। यह एक ऐसी लड़ाई है जो जनसहयोग से ही जीती जा सकती है। इसलिए आमजन को कोरोना गाइडलाइन की पालना करते हुए प्रशासन का सहयोग करना चाहिए, ताकि कोरोना को हरा सकें।
- डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी, जिला कलक्टर, नागौर