ऑनलाइन पॉलिसी लेने वालों के लिए चेतावनी, हो सकता है आवेदकों के साथ फ्रॉड

|

Updated: 22 Apr 2020, 09:09 AM IST

  • इरडा ने चेताया, फ्रॉड कंपनियां कम प्रीमियम का लालच देकर लग सकती है चूना
  • ऑनलाइन इंश्योरेंस खरीदने से पहले इरडा की ओर से जारी की गई हैं गाइडलाइंस

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वजह से पूरा देश लॉकडाउन में बंद है। वहीं अब देश की जनता सब कुछ ऑनलाइन कर रही है। खाने पीने के सामान से लेकर ट्रांजेक्श्न तक ऑनलाइन तक कर रही है। खास बात तो ये है कि इस इस दौरान हेल्थ पॉलिसी और जीवन बीमा की भी डिमांड काफी बढ गई है। लोग ऑनलाइन अपना हेल्थ और जीवन बीमा कर रहा हैं, लेकिन इरडा की ओर से सावधान किया गया है कि ऐसी फ्रॉड कंपनियों से सावधान रहने की जरुरत है जो कम प्रीमियम का लालच दे रही है। इरडा के अनुसार ऐसी कंपनियां आपके साथ फ्राड कर सकती हैं। ऐसे में ऑनलाइन पॉलिसी देते समय आपको काफी सतर्क रहने की जरुरत है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर इरडा की ओर से और क्या कहा गया है?

फर्जी ऑनलाइन ऑफर्स रहें सावधान
इरडा ने आवेदकों को इंश्‍योरेंस के फर्जी ऑनलाइन ऑफर से बचने के लिए कहा हैै। कोरोना वायरस लॉकडाउन की लोग ऑनलाइन इंश्‍योरेंस खरीदने में लग गए हैं। लोगों में महामारी के डर से हेल्थ इंश्योरेंस की ज्यादा डिमांड कर रहे हैं। ऐसे में इरडा की ओर से कहा गया है कि मार्केट में कई फेक संस्‍थान डिजिटल माध्‍यम से बहुत कम प्रीमियम पर पॉलिसी देने का झांसा दे रहे हैं। जिससे देश के लोगों को बचने की काफी जरुरत है।

यह भी पढ़ेंः- रोज 11 रुपए निवेश कर एलआईसी की एसआईआईपी योजना में कमा सकते हैं रुपया

सिर्फ इन्हीं संस्थानों से खरीदें पॉलिसी
- जो बीमा कंपनी इरडा से रजिस्टर्ड हो।
- ऐसे संस्थान जिन्हें इरडा से इंश्‍योरेंस इंटरमीडिएयरी कारोबार करने परमीशन हो।
- साथ ही इंश्‍योरेंस कंपनियों के नियुक्‍त बीमा एजेंट से ही इंश्योरेंस कराना सेफ होगा।

इन बातों का भी रखें ध्यान
इरडा की ओर से कहा गया है कि बीमा कंपनी, इंटरमीडिएरी या एजेंट्स की जांच कर लेना भी काफी जरूरी है। जांच के बाद ही ऑनलाइन पेमेंट के बारे में सोचना चाहिए। इरडा के अनुसार ज्यादा जानकारी के लिए जनता इरडा की कंज्‍यूमर एजुकेशन वेबसाइट http://www।policyholder।gov।in/ पर भी जा सकती है।