2018 में इन सेविंग स्कीम्स में करें निवेश, मिलेगा ज्यादा रिटर्न

|

Published: 31 Dec 2017, 11:29 AM IST

जाने कौन से हैं ये स्कीम

नई दिल्ली। हम सभी इस नए साल में अपनी जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए कोई न कोई नया संकल्प जरूर लेंगेे। ऐसे में यह जरूरी हो जाता है कि हम पूरी तैयारी के साथ इस साल का खाका तैयार करें जो हमारे सपने को पूरा करने में मदद करें। इसके लिए सबसेे जरूरी है सही वित्तीय प्लानिंग जो हमारे सपने को पूरा करने में मददगार होगा। आपके मन में सवाल उठ सकता है कि सही वित्तीय प्लानिंग के लिए क्या करनी चाहिए तो इसमें हम आपकी मदद कर रहे हैं। साल 2018 के लिए हम आपको उन 5 विकल्पों के बारे में बता रहे हैं, जहां निवेश कर आप बेहतर कमाई कर सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना: टैक्स छूट के साथ 8.1% ब्याज

छोटी बचत योजनाएं पर ब्याज दर कम होने के बावजूद सुकन्या समृद्धि योजना एक बेहतर निवेश माध्यम बना हुआ है। योजना के तहत आप अपनी 10 साल से कम उम्र की बेटी के नाम पर बैंक या पोस्ट ऑफिस में अकाउंट खुलवाया जा सकता है। योजना में 14 साल तक निवेश करना है। वहीं, बेटी के 21 साल होने पर अकाउंट मेच्योर हो जाता है। अकाउंट में निवेश किए गए पैसों पर इनकम टैक्स की धारा 80सी के तहत छूट भी ली जा सकती ह

पीपीएफ : सालाना 500 से शुरू करें

बैंक सेविंग अकाउंट की तुलना में पीपीएफ अकाउंट में पैसे डालना बेहतर विकल्प है। मौजूदा समय में पीपीएफ पर सालाना 7.6 फीसदी रिटर्न मिल रहा है। पीपीएफ अकाउंट को बनाए रखने के लिए आपको न्यूनतम 500 रुपए सालाना और अधिकतम 150000 रुपए सालाना जमा करा सकते हैं। पीपीएफ का बड़ा फायदा यह है कि सभी तरह के लाभ टैक्स फ्री होते हैं।

पोस्ट ऑफिस स्कीम पर एफडी से ज्यादा रिटन

फिक्स्ड डिपॉजिट पर भी बैंक लगातार ब्याज दर घटा रहे हैं, लेकिन डाकघर की बचत योजनाओं की ब्याज दरों में कमी नहीं की गई है। निवेशक को बैंक डिपॉजिट पर अभी मैक्सिमम 6 से 7 फीसदी के बीच ब्याज मिल रहा है। जबकि, डाकघर की जमा योजनाओं पर 7.9 फीसदी ब्याज मिल रहा है। इस लिहाज से आपकी रकम इस स्कीम में 9 साल में दोगुनी हो जाएगी।

लिक्विड फंड: सेविंग खाते से दोगुना से ज्यादा ब्याज

अगर, आप कम समय के लिए निवेश करना चाहते हैं तो लिक्विड फंड एक बेहतर ऑप्शन है। ये फंड आपको सेविंग्स अकाउंट पर मिलने वाली ब्याज दर के मुकाबले ज्यादा रिटर्न देते हैं। साथ ही, इससे पैसा आसानी से निकाला जा सकता है। एक साल में ज्यादातर लिक्विड फंड योजनाओं ने 9त्न से ज्यादा रिटर्न दिया है।

इस साल न दोहराएं ये गलतियां

निवेश पर अच्छा रिटर्न हर किसी की चाहत होती है। लेकिन कई छोटी-छोटी गलतियां सारी मेहनत पर पानी फेर देती हैं। इन गलतियों में सही प्लानिंग, विविधता, महंगाई को नजरअंदाज करना, टालमटोल करना, देरी से निवेश करना, समीक्षा ना करना आदि शामिल हैं।