SBI LPS : छोटे और भूमिहीन किसानों को 85 फीसदी मिलेगा लोन

|

Updated: 17 Aug 2020, 04:26 PM IST

  • SBI Land Purchase Scheme में 2.5 एकड़ से कम सिंचित जमीन या जमीन ना रखने वाले किसानों को मिलेगा लोन
  • जमीन की कुन कीमत का 15 फीसदी भरने पड़ेगा खुद, Loan चुकाने के लिए 10 साल का मिलेगा समय

नई दिल्ली। अगर आपकी कोरोना वायरस ( Coronavirus ) की वजह नौकरी चली गई है और अपने गांव आ गए हैं, साथ ही किसी काम या खेती करने का प्लान बना रहे हैं तो स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ( State Bank of India ) की लैंड परचेंज स्कीम ( Land Purchase Scheme ) आपके लिए कारगर साबित हो सकती है। इस स्कीम का फायदा वो ही लोग उठा सकते हैं, जिनके पास या तो खेती के लिए बिल्कुल भी जमीन नहीं है, या फिर 2.5 एकड़ सिंचित जमीन से कम है। खास बात तो ये है कि आपको खेती की जमीन की कुल कीमत 15 फीसदी ही देना होगा, बाकी का रुपया यानी 85 फीसदी भाग एसबीआई से लोन ( SBI Loan ) के रूप में मिल जाएगा। लोन की रकम चुकाने के लिए आपको 10 साल का समय मिल जाएगा। जिसके बाद आपको उसका मालिकाना हक भी मिल जाएगा।

यह भी पढ़ेंः- Future Group के बाद अब Urban Ladder और MilkBasket को खरीद सकते हैं Mukesh Ambani

स्कीम का क्या है मकसद
- छोटे किसानों को जमीन खरीदने में मदद करना।
- कोरोना वायरस की वजह से नौकरी जाने वाले लोगों को रोजगार मुहैया कराना।
- जिन लोगों के पास कृषि योग्य जमीन नहीं है उन्हें जमीन मुहैया।
- इस स्कीम का फायदा उन्हीं लोगों को जिन पर कोई दूसरा लोन बकाया नहीं होना चाहिए।

कौन ले सकते हैं यह लोन?
- जिन किसानों के पास 2.5 एकड़ से कम सिंचित जमीन है।
- जिनके पास जमीन नहीं है वो भी अप्लाई कर सकते हैं।
- लोन अप्लाई करने वालों का पास्ट ट्रैक रिकॉर्ड अच्छा होना चाहिए।

क्या है स्कीम का फायदा
- स्कीम में लैंड की कुल कीमत का 85 फीसदी तक लोन मिल सकता है।
- आपको सिर्फ 15 फीसदी रकम चुकानी है।
- जब तक बैंक का लोन नहीं चुक जाता तब तक जमीन बैंक के ही नाम रहेगी।
- लोन चुकाने के बाद जमीन किसान के नाम कर दी जाएगी।
- लैंड परचेज स्कीम में आपको 1 से 2 साल का फ्री समय भी मिलता है।
- इस टाइम में आप अपनी जमीन को कृषि योग्य बना सकते हैं।
- अगर पहले से जमीन विकसित है तो बैंक एक साल का फ्री पीरियड देता है।