LIC ने दोबारा से लांच की PMVVY Scheme, Senior Citizen को होगा इतना फायदा

|

Updated: 26 May 2020, 09:57 AM IST

  • मंगलवार से तीन Fiscal Year यानी March 2023 तक उपलब्ध रहेगी PMVVY Scheme
  • Scheme की Maturity Period है दस साल, पहले साल 7.40 फीसदी का दिया जाएगा Return

नई दिल्ली। भारतीय जीवन बीमा निगम ( LIC ) ने अपनी प्रधानमंत्री वय वंदन योजना ( Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana ) एक बार फिर से लांच किया है। आज से यह संशोधित योजना सभी पात्रों के लिए उपलब्ध होगी। सरकार की ओर से इस स्कीम में संशोधन तहत साठ वर्ष या इससे अधिक आयु वाले लोगों के लिए ब्याज दरों में बदलाव किया है। प्रधानमंत्री व्यय वंदना योजना सीनियर सिटीजंस ( PMVVY Scheme For Senior Citizen ) के लिए एक अहम स्कीम है, जिसमें मासिक पेंशन ( Monthly Pension ) का विकल्प के तौर पर सीनियर सिटीजंस को दस साल तक गारंटीड पेंशन मिलती है। एलआईसी ( Lic ) की ओर से आए बयान के अनुसार संशोधित योजना मंगलवार से तीन वित्त वर्ष यानी मार्च 2023 तक उपलब्ध रहेगी। इस योजना को ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीकों से खरीदा जा सकता है। इस योजना की परिपक्वता अवधि दस साल है। इसमें पहले साल 7.40 फीसदी का रिटर्न दिया जाएगा।

दोबारा से बढ़ाई गई है स्कीम की डेट
प्रधानमंत्री वय वंदना योजना का लाभ भारतीय जीवन बीमा निगम के माध्यम से लिया सकता है। जोकि ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों में उपलब्ध है। आपको बता दें कि वित्तीय वर्ष 2018-19 के आम बजट में केंद्र सरकार ने सीनीयर सिटीजन के लिए इस योजना की लास्ट डेट को बढ़ाकर 31 मार्च 2020 कर दिया था। साथ ही अधिकतम सीमा को बढ़ाकर 15 लाख रुपए कर दी थी।

क्या है इस योजना के लाभ
- इस योजना की अवधि 10 साल रखी गई है।
- 10 साल पूरा होने के बाद भी इस स्कीम का लाभ चाहते हैं तो दोबारा इससे जुडऩा होगा।
- पेंशनधारी इस स्कीम के 10 साल तक जीवित है तो उसे आखिरी में एरियर भी दिया जाएगा।
- अगर किसी पेंशनधारी की मौत हो जाती है तो लाभार्थी को योजना की रकम वापस कर दी जाएगी।
- योजना का टेन्योर पूरा होने के बाद भी पेंशनधारी जीवित है तो उसे पॉलिसी की कुल रकम के साथ आखिरी पेंशन इंसटॉलमेंट तक की जाएगी।

60 साल की उम्र और 10 हजार की पेंशन
इस योजना के लिए पात्र व्यक्ति की उम्र 60 साल या उससे अधिक होनी चाहिए। इस योजा की अधिकतम आयु सीमा कोई नहीं है। वहीं इस योजना के प्रति माह पेंशन पाने वाले को कम से कम एक हजार रुपया मिलेगा। वहीं अधिकतम सीमा 10 हजार रुपए है। इस इस बात पर निर्भर करेगा कि आप कितनी अवधि के लिए पेंशन चाहते हैं। अगर आप न्यूनतम एक हजार रुपए मासिक पेंशन चाहते हैं तो आपको इस स्कीम के लिण्ए 1.50 लाख रुपए खर्च करने होंगे। वहीं आप 10 हजार रुपए मासिक पेंशन चाहते हैं तो 15 लाख रुपए खर्च करने होंगे।