LIC Policy Holders के लिए खुशखबरी, पैसे निकालने का नियम 30 जून तक किया आसान

|

Updated: 06 Jun 2020, 05:37 PM IST

  • LIC ने ग्राहकों को राहत देते हुए Maturity Claim के नियमों को किया आसान
  • Maturity Claim पाने के लिए ग्राहक को LIC की Branch जाने की जरूरत नहीं

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( Coronavirus ) काल में देश की सबसे बड़ी सरकारी इंश्योरेंस कंपनी एलआईसी ( LIC ) ने अपने ग्राहकों को बड़ी राहत दी है। एलआईसी ने कोरोना वायरस के संकट को देखते हुए मैच्योरिटी क्लेम ( LIC Maturity Claim ) के नियमों को आसान कर दिया है। अब ग्राहकों को क्लेम के लिए एलआईसी के ब्रांच ऑफिस जाने की जरुरत नहीं होगी। कस्टमर पॉलिसी ( Customer Policy ), केवाईसी डॉक्युमेंट्स ( KYC Documents ), डिस्चार्ज फॉर्म और दूसरे डॉक्युमेंट्स की स्कैन कॉपी ईमेल करके क्लेम ले सकते हैं। एलआईसी की ओर से इस बारे में वेबसाइट पर सर्कूलर जारी कर दिया है। सर्कूलर के अनुसार यह सुविधा ग्राहकों को 30 जून तक मिलेगी।

Coronavirus Drug पर Sun Pharma को बड़ी कामयाबी, Clinical Trial के लिए मिली मंजूरी

कुछ इस तरह के है क्लेम करने के नियम
- एलआईसी के अनुसार पॉलिसी का एक्टिव होना जरूरी, जिस ब्रांच ऑफिस से जारी हुई है वहीं पॉलिसी देना जरूरी और पॉलिसी पर कोई बकाया ना हो।
- डुप्‍लीकेट पॉलिसी जारी न हुई हो।
- सर्वाइवल बेनिफ‍िट क्‍लेम मामले में कुल सर्वाइवल बेनिफिट की रकम 5 लाख रुपए तक होना जरूरी।
- मैच्‍योरिटी क्‍लेम के मामले में पॉलिसी की बीमित राशि 5 लाख तक होना जरूरी।

HDFC Bank Summer Treats Scheme: कारोबारियों, वेतनभोगियों और सेल्फ इंप्लॉयड को कितना होगा फायदा

क्लेम करने का तारीका
पॉलिसीहोल्डर को ईमेल के माध्यम से क्लेम रिक्वेस्ट भेजनी होगी। इसके इसके लिए claims.bo@ licindia.com पर मेल किया जा सकता है। यहां ब्रांच कोड सर्विसिंग ब्रांच दिया गया है। मान लीजिए आपकी ब्रांच का कोड 883 है. तो आपको claims.bo883@licindia.com पर मेल करना होगा। स्कैन किए गए सभी डॉक्युमेंट जेपीईजी या पीडीएफ फॉर्मेट में 5 एमबी से ज्‍यादा नहीं होना चाहिए।