Lockdown में Salary Cut या नौकरी चले जाने पर काम आएंगी ये मुख्य बातें

|

Updated: 25 May 2020, 03:39 PM IST

  • अपने और परिवार के Budget का दोबारा से करें Assessment
  • Health और Life Insurance को बंद करने की भूल ना करें
  • जरुरत से ज्यादा उधार लेने से बचना जरूरी, वर्ना फंसेंगे

नई दिल्ली। कोरोना वायरस लॉकडाउन ( Coronavirus Lockdown ) में करोड़ों लोगों की नौकरी ( Job loss ) चनी गई है या फिर जाने का खतरा मंडरा रहा हैँ अब तो कंपनियों की ओर से सैलरी कट ( Salary Cut ) करने का भी तरीका तलाश लिया है। जिसकी वजह से नौकरीपेशा लोगों को घर चलाने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में लोगों उधार और सेविंग करने के चक्कर में निवेश योजनाओं को बंद करने की भूल कर बैठते हैं। अगर आप भी नौकरी चले जाने और सैलरी कट का शिकार हो रहे हैं, तो आपको इन चार बातों पर ध्यान देना काफी जरूरी है। ताकि आप आर्थिक रूप से मुश्किलों में ना फंसे।

यह भी पढ़ें:- 118 साल पुरानी मसाला कंपनी खरीदेगी ITC, दो हजार करोड़ रुपए की हो सकती है डील

Health और Life Insurance को बंद न करें
नई आर्थिक परिस्थितियों के आने से पहले अगर आपने जीवन बीमा में निवेश किया हुआ है और आपने स्वास्थ्य बीमा लिया हुआ और रुपयों की कमी वजह से आप ऐसी योजनाओं में निवेश बंद करने का मन बना रहे हैं, तो आपकी बड़ी भूल होगी। ऐसे आर्थिक संकट और महामारी के बीच ये दोनों ही प्रोडक्ट आापके लिए काफी जरूरी है। ऐसे समय में आपको चाहिए कि आप अपने प्रीमियम का भुगतान करते रहें। कैश की किल्लत की वजह से आप प्रति माह के हिसाब से भी प्रीमियम का भुगतान कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:- CAIT Report : 60 दिनों में Retail Business को 9 लाख करोड़ रुपए का नुकसान

उधार लेने से फंसे
नौकरी चले जाने या फिर सैलरी कटने की स्थिति में आप उधार के चक्रव्यू कमें फंस सकते हैं। ऐसे में समय में अगर आपके खर्च पर कंट्रोल नहीं है और इमरजेंसी फंड भी खत्म हो चुका है तो खर्चों को पूरा करने के लिए उधार लेते रहेंगे। वहीं दूसरी ओर आपको ऐसे समय में ब्याज वाले उधार से बचना काफी जरूरी है। एक से ज्यादा कर्ज लेने की जगह आप सिंगल कर्ज या उधार लें।

Temperary Investment को पूरी तरह से रोकें
नौकरी छूटने या फिर सैलरी कटने की स्थिति में आप अपना टेंपरेरी इंवेस्टमेंट को पूरी तरह से रोक सकते हैं। जिससे आपके रोजमर्रा के खर्च पूरे हो सकेंगे। नौकरी मिल जाने पर आप दोबारा से बंद किए निवेश को शुरू कर सकते हैं। वहीं दूसरी ओर आप क्रेडिट कार्ड के उपयोग से जितना हो सके बचें।