ऐसे-मिलेगी पुरानी कार की बढिय़ा रीसेल वैल्यू

|

Published: 27 Oct 2017, 01:31 PM IST

अगर, आप भी नई कार खरीदेंगे तो आपने अपनी पुरानी कार बेचेंगे। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपकी पुरानी कार की बढिय़ा रीसेल वैल्यू कैसे मिलेगी।

ऐसे-मिलेगी पुरानी कार की बढिय़ा रीसेल वैल्यू

त्योहारी मौसम में हम सभी कोई नई चीज जरूर खरीदते हैं। जहां कुछ लोग गहने, गैजेट, घरेलू सामान, वगैरह खरीदते हैं, तो वहीं कुछ लोग नई कार को तरजीह देते हैं। अगर, आप भी नई कार खरीदेंगे तो आपने अपनी पुरानी कार बेचेंगे। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपकी पुरानी कार की बढिय़ा रीसेल वैल्यू कैसे मिलेगी। अगर, नहीं तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। हम आपको कुछ टिप्स बता रहे हैं जिसको फॉलो कर आप अपनी पुरानी ककार को असानी से बेेच कर अच्छी कीमत पा सकेंगे।


एक्सचेंज ऑफर से बचें : एक्सचेंज ऑफर बुद्धिमानी का विकल्प नहीं है। आपकी इस्तेमाल की गई कार का जितना अधिक मूल्य वे लगाएंगे, उतनी ही कम छूट वे नई कार की खरीदारी पर देंगे। इसलिए यह सलाह दी जाती है कि खरीदने और बेचने के काम को अलग-अलग रखें।


पेपरवर्क ज्यादा लाभ देता है

संभावित खरीदार से मिलने से पहलें, उन सभी दस्तावेज की सूची तैयार कर लें, जो मांगी जा सकती हैं। इसमें रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (आरसी), बीमा पेपर, वैध पॉल्यूशन सर्टिफिकेट (पीयूसी) और टायर, बैटरी या किसी अन्य एस्सेरी की वारंटी कॉपी, जिसमें आपने निवेश कर रखा है। इससे भी आगे, अगर आपने आरएसए कवरेज की वारंटी बढ़ाई है, तो उसका भी पेपरवर्क तैयार रखे। यह सुनिश्चित कर लें कि आपके पास कार की दूसरी चाबी हो, साथ में सभी सर्विस रिकॉर्ड भी। यह सब बेचने वाले में आत्मविश्वास भर देता है।


नई कार के इंतजार में न रुकें

ज्यादातर लोकप्रिय कारों की खरीदारी में इंतजार का समय महीनों लग जाता है। ऐसे में स्वाभाविक आदत होती है कि लोग नई कार के आने तक पुरानी कार को बेचने से रुकते हैं। लेकिन त्योहारी मौसम के दौरान ऐसा नहीं करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि इसके बाद इस्तेमाल की गई कारों के दाम गिर जाते हैं।


सर्विस पहले, बेचना बाद में

तेल और फिल्टर बदलने के साथ रुटीन सर्विस से आपकी कार पहले से अच्छी चलने लगती है। नई सर्विस की हुई कार चलाने में आसान और तेज होती है और खरीदार को मानसिक सुकून देती है। कोई भी अतिरिक्तखर्च नहीं करना चाहता है।


विश्वसनीय जांच रिपोर्ट मदद करती है

जब आप अपनी इस्तेमाल की गई कार बेचने जाते हैं, तो इसके लिए विश्वसनीय जांच रिपोर्ट की कॉपी रखने की सलाह दी जाती है। अपनी कार की यूएसपी और निगेटिव प्वॉइंट जानने से आपको खरीदार के साथ बेचने में मदद मिलती है।