इंश्योरेंस कंपनियां दे सकती हैं पॉलिसी होल्डर्स को वेलनेस कूपंस और रिवॉर्ड प्वाइंट्स

|

Published: 06 Sep 2020, 05:39 PM IST

  • इरडा की ओर से स्वास्थ्य और बचाव परिदृश्य से जुडे नए दिशानिर्देश किए गए जारी
  • बीमा कंपनियां अपने विज्ञापन में तीसरे पक्ष का नाम या लोगो को नहीं दिखा सकती

नई दिल्ली। इंश्योरेंस सेक्टर की रेगुलेटर इरडा ( IRDAI ) की ओर से नए जरूरी दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। जिसके तहत इंश्योरेंस कंपनियां हेल्थ सप्लिमेंट और योग सेंटर्स के लिए डिस्काउंट कूपंस पेश कर सकती हैं। वहीं तय योग्यताएं पूरी करने पर पॉलिसी होल्डर्स को रिवार्ड पॉइंट भी दे सकती हैं। आइए आपको भी बताते हैं कि इरडा की ओर से किस तरह के दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।

यह भी पढ़ेंः- इकोनॉमी पर सरकार को चिदंबरम को सलाह, जानिए उन्होंने अपने ट्वीट में क्या कहा

डिस्काउंट कूपन किए जा सकते हैं ऑफर
इरडा की ओर जारी दिशा निर्देशों के अनुसार कोई भी हेल्थ और प्रोडक्शन पॉलिसी केवल अच्छे स्वास्थ्य को बरकरार रखने के उद्देश्य के साथ डिजाइन होनी चाहिए। इस वेलनेस प्रोग्राम में इंश्योरेंस कंपनियां पॉलिसी होल्डर्स को हेल्थ सप्लीमेंट की खरीद या योग केंद्र, जिम, खेल क्लब अथवा फिटनेस सेंटर की सदस्यता लेने पर डिस्काउंट कूपन या वाउचर ऑफर किया जा सकता है।

यह भी पढ़ेंः- रेलवे में नौकरी के लिए एक पद के लिए 173 लोगों ने किया आवेदन, 15 दिसंबर को होगी ऑनलाइन परीक्षा

इस तरह से नहीं लिया जा सकता है लाभ
इरडा की मानें तो इन फैसिलीटीज को किसी पॉलिसी में ऑप्शन के बदले या एडऑन के तहत पेश किया जा सकता है। इसके अलावा रेगुलेटर के सर्कुलर में कहा गया है कि इसे किसी भी इंश्योरेंस प्रोडक्ट में समाहित कर या उसके लाभ के तौर पर जोड़कर नहीं रखा सकता है। इरडा ने इंश्योरेंस कंपनियों से इन सुविधाओं के कारण बीमा की कीमत पर पडऩे वाले प्रभाव का आकलन कर उसका आवेदन के समय ग्राहक के सामने साफ-साफ डिस्क्राइब करने को कहा है।

यह भी पढ़ेंः- एक सप्ताह में मुकेश अंबानी को हुआ 24 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान

थर्ड पार्टी का इस्तेमाल नहीं
इरडा सर्कुलर के अनुसार इंश्योरेंस कंपनियां अपने विज्ञापन में थर्ड पार्टी का नाम और लोगो का यूज नहीं कर सकती हैं। वे सामान्‍य रूप से सुविधाओं का उल्‍लेख कर सकती हैं। वैसे इरडा ने बीमा कंपनियों को अपनी वेबसाइट पर इन सुविधाओं का उल्‍लेख करने की छूट दी है।आपको बता दें कि कोरोना वायरस के दौर में इरडा का महत्व और जिम्मेदारी काफी बढ़ गई हैं। बीते छह महीने में इंश्योरेंस कंपनियों पर मजबूत पकड़ बनाए हुए हैं।साथ ही ग्राहकों को लुटने से बचाया हुआ है। किसी भी कंपनी को कोविड का गलत फायदा नहीं उठाने दिया है।